गाजीपुर-मासूम देखता ही रह गया

गाजीपुर-सैदपुर थानाक्षेत्र के फुलवारी गांव स्थित गंगा नदी में गुरूवार की सुबह मछली मार रहे मछुआरे की नदी में डूबने से मौत हो गई। उधर से गुजर रहे अन्य मछुआरों ने उसे देखा तो बाहर निकाला लेकिन तब तक वो दम तोड़ चुका था। घटना के बाद परिजनों में कोहराम मच गया। नगर के वार्ड 15 निवासी अशोक निषाद आयु 40 वर्ष पुत्र सुग्गू निषाद बेहद गरीब था और गंगा नदी में मछली मारकर परिवार का भरण पोषण करता था। रोज की तरह वो अपने 4 वर्षीय पुत्र सावन को लेकर नाव से मछली मारने फुलवारी की तरफ चला गया था। इस बीच नाव पर खडे़ होने के दौरान उसका संतुलन बिगड़ गया और वो सीधे नदी में जा गिरा। वहां पर पानी बेहद कम होने के चलते उसके सिर में चोट लगी और वो नदी में ही फंस गया। जिससे उसके दोनों पैर ही बाहर दिख रहे थे। इस बीच उधर से आ रहे अन्य मछुआरों ने उसके दोनों पैर बाहर देखे तो उसे तत्काल निकाला लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। घटना के बाद परिजनों में कोहराम मच गया। मृतक की पत्नी आशा समेत मां तारा देवी का रो-रोकर बुरा हाल था। 4 भाईयों में दूसरे स्थान पर मृतक 2 पुत्रियां काजल व खुशी समेत 3 छोटे पुत्र सावन, दीपू व पवन को छोड़ गया है। परिजनों ने शव का अंतिम संस्कार कर दिया।