गाजीपुर-मुर्ख ने गडे़ धन के चक्कर में 07 लाख गंवाया

गाजीपुर-पुलिस अधीक्षक राम बदन सिंह के निर्देश पर कासिमाबाद कोतवाली पुलिस ने थाने में जालसाज के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया। आरोपी से पूछताछ के बाद पुलिस ने उनका चालान कर जेल भेज दिया।नामजद आरोपी बिहार राज्य के बक्सर जिले के अहिरौली गांव का निवासी है। कासिमाबाद थाने की चावनपुर गनी गांव निवासी मनोज यादव बिहार प्रांत के बक्सर जिले के अहिरौली निवासी जालसाज सनोज मांझी को नामजद करते हुए पुलिस अधीक्षक को प्रार्थना पत्र सौंपा था। इसमें उन्होंने बताया कि आरोपी ने उनसे 7 लाख लिया बदले में जमीन में गड़े धन को निकालने का वादा किया। जालसाज से उनकी मुलाकात पड़ोसी के घर पर उस समय हुई थी जब वह जमीन में गडे संपत्ति को निकालने का काम कर रहा था। कुछ दिन पहले जालसाज ने पीड़ित के पिता सीताराम यादव को विश्वास में लेकर बताया कि उनके घर के आंगन में दो स्थानों पर धन गडा़ है इस धन में सोने चांदी के गहने किसी बड़े बर्तन में दबे पड़े हैं। इस धन कीमत करोड़ों रुपए है। इसको निकालने के लिए जालसाज ने 7 लाख रूपये की डिमांड की पैसा उसके खाते में भेज दिया गया, लेकिन जमीन के नीचे से कुछ नहीं निकला। जब जालसाज धन नहीं निकल पाया तो तो उसके इस धोखाधड़ी के मामले को लेकर पीड़ित ने कासिमाबाद कोतवाली में तहरीर दी। तहरीर के आधार पर पुलिस आरोपी को पकड़कर थाने ले आई।पीड़ित का आरोप है कि पुलिस ने उससे पूछताछ कर छोड़ दी थी,पीडित ने आरोप लगाया कि तहरीर देने के बाद भी मुकदमा दर्ज नहीं हुआ और पुलिस ने बिना कोई कार्यवाही किए ही छोड़ दिया था। इसके बाद जालसाज को छोड़ने को लेकर थाना अध्यक्ष से भाजपा नेताओं की कहासुनी भी हुई थी। इसके बाद यह मामला पुलिस अधीक्षक के यहां पहुंचा ।उन्होंने इसे गंभीरता से लेते हुए पूरे मामले की जांच कराई जिसमें पीड़ित की शिकायत सही मिली। एसपी के निर्देश पर मुकदमा दर्ज करने के साथ ही पुलिस ने जालसाज को गिरफ्तार कर चालान कर दिया।

Also Read:  आसिफ हत्याकांड का पर्दाफाश या पुलिस खानापूर्ति