गाजीपुर-लोगों ने शोर मचाया बचाओ-बचाओ, लेकिन कहानी खत्म

गाजीपुर-शहर कोतवाली क्षेत्र के रजागंज पुलिस चौकी के समीप हमीद सेतु से सोमवार की दोपहर करीब एक बजे बजे एक अज्ञात 45 वर्षीय अधेड ने गंगा में छलागं लगा दिया ।गंगा नदी में उस समय नौका से मछली मार रहे मछुआरो की नजर पडते ही नाव व जाल लेकर डूब रहे व्यक्ति को बचाने के लिए निकल पडे साथ ही इसकी सूचना रजागंज पुलिस को दी।सुचना मिलते ही पहुंची पुलिस ने स्थानीय मछुआरों की सहायता से गंगा मे कुदे अधेड़ की तलाश शुरू कर दिया ।काफी प्रयास के बाद दोपहर दो बजे नदी से अधेड का शव निकाला जा सका । इसके तुरंत बाद पुलिस उसे जिला अस्पताल ले गई जहां डाक्टरो ने देखते ही उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस मृत अधेड की पहचान में जुट गई है मगर अभी तक सफलता नहीं मिल सकी है ।पुलिस के अनुसार मृतक नीला शर्ट, हाफ सफेद स्वेटर व काला पैंट पहने हुए था उसके पैंट से महज बीस रूपये का नोट पुलिस को मिला है।ग्रामीणो के मुताबिक हमीद सेतु से अब तक पूर्व में अनगिनत लोग छलांग लगा चुके है ,जिनमें कईयों को बचाया भी जा सका है ,जबकि कई लोगों की डूबने से मौत भी हो चुकी है ।इस सम्बन्ध में रजागंज चौकी इंचार्ज पवन कुमार ने बताया कि कूदे अधेड के शव को कब्जे में लेकर उसकी पहचान कराई जा रही है ,वह किन कारणों से नदी में छलांग लगाया इसकी छानबीन की जा रही है ।