गाजीपुर-विलुप्त हो रहे सफेद उल्लू के बच्चे जमानियां मे मिले

गाजीपुर- जमानिया क्षेत्र के बड़ेसर नाहर पुलिया के पास नहर किनारे बुधवार की दोपहर करीब 12:00 बजे विलुप्त हो रहे दुर्लभ प्रजाति के उल्लू के चार बच्चे मिले।सूचना मिलते ही पशुपालन विभाग की टीम मौके पर पहुंचकर मेडिकल परीक्षण करने के बाद दुर्लभ उल्लू के 4 बच्चों को वन विभाग को सुपुर्द कर दिया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार बड़ेसर नहर पुलिया के पास नहर किनारे विलुप्त हो रहे सफेद रंग के उल्लू के 4 बच्चों को देख कर कुत्ते जोर-जोर से भौंक रहे थे। जिससे उधर से गुजर रहे राहगीरों का ध्यान उधर आकर्षित हुआ और उन्होंने वहां पहुंचकर कुत्तों को भगाया। दुर्लभ प्रजाति के उल्लू के बच्चों के मिलने की खबर क्षेत्र में जंगल की आग की तरह फैल गई। कुछ ही देर में नहर के किनारे सैकड़ों लोग एकत्र हो गए और इस अजीबोगरीब पक्षी को देखकर आश्चर्य व्यक्त करने लगे। किसी ने इस बात की जानकारी पशुपालन विभाग के अधिकारियों को दी। सूचना मिलते ही पशुपालन विभाग के पशु चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर संतोष कुमार एवं पैरावेट रामानुज मौके पर पहुंचे ।मौके पर पंहुचे पशु डॉक्टर की टीम में एक एक कर सभी उल्लू के बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण किया और सुरक्षित सभी उल्लू के बच्चों को अपने साथ पशु चिकित्सालय ले आए। बच्चों को पूर्णतया स्वस्थ्य पाए जाने पर इसकी सूचना उन्होंने वन विभाग को दिया। इस संदर्भ में पशु चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर संतोष कुमार ने बताया कि सफेद उल्लू विलुप्त हो रही प्रजातियों में से एक है और सफेद उल्लू का बच्चा अत्यंत दुर्लभ प्रजाति का है। दुर्लभ प्रजाति के इस उल्लू के मिलने से इसका मतलब स्पष्ट है कि इस क्षेत्र का जलवायु और माहौल इन के रहन-सहन के लिए उपयुक्त है। उन्होंने बताया कि परीक्षण के बाद सभी उल्लू के बच्चे स्वस्थ पाए गए हैं जिसे वन विभाग को सुपुर्द कर दिया गया है।