गाजीपुर-शिक्षकों ने दी चेतावनी, विधानसभा का घेराव करेंगे

गाजीपुर-प्रदेश सरकार के तानाशाही रवैये से नाराज शिक्षकों ने उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ प्रांतीय नेतृत्व के आह्वान पर बुधवार को विकास भवन परिसर एक दिवसीय धरना-प्रदर्शन किया। इस अवसर सभा को संबोधित करते हुए वाराणसी मंडल के मंडल अध्यक्ष रामानुज सिंह ने कहा कि सरकार शिक्षकों का लगातार उत्पीड़न कर रही है।हम शिक्षकों की मांगों के प्रति उदासीनता बरती जा रही है। सरकार अगर अपने रवैये में सुधार नहीं लाती है तो शिक्षक मजबूर होकर आन्दोलन करने का निर्णय लेने के लिए बाध्य होंगे। प्रांतीय संघर्ष समिति के सदस्य चौधरी दिनेशचंद्र राय ने कहा कि पुरानी पेंशन तथा चिकित्सकीय सुविधा शिक्षकों को अन्य राज्य कर्मचारियों की भांति दी जाए। संगठन के लगातार मांग करने बावजूद सरकार हमरी बात को अनसुनी कर दे रही है। इससे शिक्षकों में आक्रोश तथा क्षोभ व्याप्त है।जिला अध्यक्ष नारायण उपाध्याय ने कंप्यूटर तथा व्यवसायिक शिक्षकों को पुर्णकालीक शिक्षक का दर्जा देकर ट्रेजरी से वेतन भुगतान की मांग की। चेतावानी दिया कि अगर 15 दिन के अंदर सरकार शिक्षकों की मांगे नहीं मानती है तो शिक्षक विधानसभा का घेराव करेंगे। जनपद मंत्री राणाप्रताप सिंह ने कहा कि वित्तविहीन विद्यालयों में कार्य करने वाले शिक्षकों को समान कार्य समान वेतन के सिद्धांत के आधार पर कोषागार से वेतन का भुगतान किया जाए। कोरोना काल में असामयिक काल कवलित हुए शिक्षकों के परिवार को नौकरी एवं 50 लाख की सहायता, जो अभी तक प्राप्त नहीं हुआ है, पर आक्रोश व्यक्त करते हुए निस्तारण की मांग की। अन्य वक्ताओं ने जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय के भ्रष्टाचार पर आक्रोश व्यक्त किया। कहा कि शिक्षकों के चयन वेतमान, प्रोन्नत वेतनमान तथा पदोन्नति के प्रकरण, आयोग द्वारा चयनित अभ्यर्थियों के शपथ पत्र देने के बाद भी मई, जून माह का वेतन सरकार के मंशा के अनूरूप नहीं दिया जा रहा है, जो घोर भ्रष्टाचार का जीता-जागता उदाहरण है। अद्यतन आयोग से चयनित अभ्यर्थियों का वेतन एक सप्ताह में नहीं दिया जाता है तो संगठन आर-पार की लड़ाई लड़ने के लिए बाध्य होगा। अंत में मुख्यमंत्री को सम्बोधित 17 सूत्री ज्ञापन जिला विद्यालय निरीक्षक को सौंपा गया। इस अवसर पर विवेकानंद गिरी, सौरभ पांडेय, तुंगनाथ पांडेय, विजय श्रीवास्तव, कैलाश यादव, शिवकुमार सिहं, प्रकाशचंद्र दुबे, अवधेश तिवारी, श्रीराम सिंह, डा. रेयाज अहमद, रत्नेश कुमार राय, विनोद मिश्रा, सियााम सिंह, कन्हैया लाल गुप्ता, विश्वमोहन सिंह, अमित राय, ओमप्रकाश सिंह, शैलेंद्र यादव, राणाप्रताप सिंह, योगेंद्र सिंह, प्रत्युष त्रिपाठी, नरेंद्र राय, विनोद सिंह, विजयबहादुर सिंह, रामजी प्रसाद, आजाद यादव, विजयनारायण पांडेय, रंगजी सिंह, राहुल कुमार सिंह, अशोक सिंह, स्वामीनाथ, दीवान शाही, कार्तिकेय यादव, संजय यादव, संजय कुमार पांडेय, रविंद्रनाथ तिवारी, जितेंद्र कुमार, दीपक खरवार, उमेश राय, अमरेंद्र प्रताप सिंह, प्रताप सिंह, प्रभार कुमार राय, गिरिश कुमार राय, अरुण राय, आशुतोष पांडेय, सत्येंद्रनाथ पांडेय, हरिशंकर सिंह, चंद्रिका चौबे, मनोज विश्वकर्मा, कमर शर्मा, रवि कुमार राय, अखिलानंद, गोपाल, सुनील कुमार, संजय कुमार राय, कमरुद्दीन, सतीश कुमार राय आदि शिक्षक मौजूद रहें। अध्यक्षता नारायण उपाध्याय तथा संचालन जनपद मंत्री राणाप्रताप सिंह ने किया।