गाजीपुर-शिक्षा माफियाओं के आगे नतमस्तक जाँच समिति

354

गाजीपुर- कुछ दिन पूर्व शासन ने शिक्षा माफियाओं के विद्यालयों के भूमि सम्बंधित दस्तावेज ,शुल्क प्रतिपुर्ति ,छात्रवृत्ति आदि की जांच हेतु एक तीन सदस्यीय समिति का गठन किया था। समिति का गठन होते ही जनपद के शिक्षा माफियाओं में हड़कंप मच गया। जांच समिति की जांच से बचने के लिए शिक्षा माफियाओं ने तरह तरह से जिला प्रशासन पर दबाव डाला व डलवाया।कुछ शिक्षा माफियाओं ने हाईकोर्ट में याचिका लंबित होने की बात कही तो कुछ शिक्षा माफियाओं ने जांच समिति के पहुंचने पर विद्यालय के गेट में ताला तक बंद करने की धमकी दिया। ऐसे में जनपद के लोगों की नजर शासन के निर्देश पर प्रशासन द्वारा गठित जांच समिति के कार्यवाही पर गंभीरता पुर्वक टीक गयी और लोग शिक्षा माफियाओं और प्रशासन द्वारा गठित जाँच समिति के बीच हो रही जंग का परिणाम देखने व जानने को उत्सुकता हो गये।लेकिन इधर देखने में आया है कि शासन के निर्देश पर जिला प्रशासन द्वारा गठित जाँच समिति पर जनपद के शिक्षा माफिया हावी हो गए।जिला प्रशासन ने शिक्षा माफियाओं के खिलाफ होने वाली जांच को लगता है ठंडे बस्ते में डाल दिया है या मामला रफा-दफा कर दिया है। जिस जनपद में अनेक ऐसे माननीय हैं जिनका खुद एक रूप शिक्षा माफिया का भी है।ऐसे में यह बात सोचनेऔर देखने की है कि माननीय शिक्षा माफियाओं के महाविद्यालयों की जाँच करके कौन अधिकारी अपना गला फंसायेगा। आने वाले समय में शिक्षा माफियाओं और जांच समिति के जंग का ऊंट किस करवट बैठेगा यह तो भविष्य के गर्भ में है लेकिन लग रहा है कि शिक्षा माफियाओं के आगे शासन प्रशासन ने घुटना टेक ही दिया।

Play Store से हमारा App डाउनलोड करने के लिए नीचे क्लिक करें- Qries