गाजीपुर-शिशु का शव विधायक आवास पर

0
164

गाजीपुर। मंगलवार की भोर में बीमार एक मासूम को लेकर परिवार के लोग जिला अस्पताल पहुंचे। इमरजेंसी ड्यूटी में तैनात चिकित्सक ने बच्चे के डाक्टर को बुलाकर दिखने के बजाय रेफर कर दिया। बच्चे की मौत हो गई। इससे आक्रोशित लोग बच्चे का शव लेकर सुबह सदर विधायक के आवास पर पहुंचे और उक्त चिकित्सक के खिलाफ कार्रवाई कराने की मांग करने लगे। विधायक ने समझा-बुझाकर लोगों को शांत कराया। सीएमएस को आवास पर बुलाकर मामले की जांच कर तीन दिन में उक्त चिकित्सक के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा।
सकरा गांव निवासी सुभाष बिंद का आरोप था कि उसके 25 दिन के मासूम की बच्चे कि तबियत खराब हो गई थी। इस पर मंगलवार की भोर में तीन बजे उसे लेकर जिला अस्पताल पहुंचा। इमरजेंसी वार्ड में तैनात चिकित्सक ने बच्चे के डाक्टर को बुलाकर बच्चे को दिखवाने के बजाय रेफर कर दिया, जिससे बच्चे की मौत हो गई। मासूम की मौत से आक्रोशित परिवार के लोग अन्य लोगों के साथ बच्चे का शव लेकर सदर विधायक संगीता बलवंत के आवास पर पहुंचे और उनसे शिकायत करते हुए उक्त चिकित्सक के खिलाफ कार्रवाई की मांग करने लगे। विधायक ने समझा-बुझाकर उन्हें शांत कराया। विधायक संगीता बलवंत ने बताया कि लोग बच्चे का शव लेकर गांव वालों के साथ आए थे। इनके बच्चे की तबियत खराब होने पर भोर में जिला अस्पताल लेकर गए। इमरजेंसी ने तैनात चिकित्सक ने बच्चे के डाक्टर को नहीं बुलाया। इससे बच्चे की मौत हो गई, जो घोर लारवही है। बताया कि मैने तत्काल सीएमएस को फोन कर आवास पर बुलाया और पूछा कि किन कारणों से बच्चे का डाक्टर नहीं आया। इसकी जांच कर उक्त चिकित्सक के खिलाफ कार्रवाई कर सूचित कीजिए ताकि हम जनता से बता सके कि जो लोग गलत कर रहे हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई हो रही है। सीएमएस ने तीन दिन के अंदर कार्रवाई करने को कहा है।विधायक ने सीएमएस से कहा है कि जल्द से जल्द डाक्टरों की मीटिंग बुलाइए ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here