गाजीपुर-श्रमिक निशुल्क करावें पंजीकरण और लें लाभ

1500 से ज्यादा सीएससी केन्द्रों पर हो रहे है पंजीकरण

गाजीपुर-अगर आप असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिक हैं और आपका न पीएफ कटता है और न ही ईएसआईसी का लाभ मिलता है। आपकी उम्र 16 साल से अधिक और 60 साल से कम है और इनकम टैक्स नहीं भरते तो फौरन ई-श्रम कार्ड के लिए अप्लाई कर दीजिए। बिना एक रुपये खर्च किए आप रजिस्ट्रेशन कराते ही दो लाख रुपये का दुर्घटना बीमा पाने का हकदार हो जाएंगे। इसके अलावा और भी बहुत कुछ इसके फायदे हैं।

भारत सरकार के इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा संचालित सीएससी कॉमन सर्विस सेंटर के माध्यम से पंजीकरण शूरु किये गए है जो किसी भी आम जन के लिए निःशुल्क है और साथ ही आप को पंजीकरण के बाद एक कार्ड प्रदान किया जायेगा इस मे पंजीकरण के बाद कार्ड धारक का एक साल के लिए 2 लाख का दुर्घटना बीमा भी निःशुल्क होगा जिसकी राशि सरकार देगी

रजिस्ट्रेशन कराने का तरीका

सबसे पहले आपको नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर पर जाना होगा,वहां जाकर सीएससी संचालक को आपको अपना आधार कार्ड और बैंक पासबुक देनी होगी उसके बाद संचालक आपके पंजीकरण की प्रक्रिया को आगे बढ़ाएंगे ,
रजिस्ट्रेशन के लिए आधार नंबर डालते ही वहां के डाटा बेस से कामगार की सभी जानकारियां अपने आप पोर्टल पर सामने दिख जाएंगी। व्यक्ति को अपने बैंक की जानकारी के साथ मोबाइल नंबर समेत दूसरी जरूरी जानकारियां भरनी होंगी। इस ऑनलाइन फॉर्म को आगे अपडेट भी किया जा सकेगा।
इसके लिए देशभर में मौजूद कॉमन सर्विस सेंटर की मदद ली जा रही है पंजीकरण के बाद व्यक्ति का यूनिवर्सल अकाउंट नंबर के साथ ई-श्रम कार्ड जारी हो जाएगा। रजिस्ट्रेशन के लिए सरकार ने 14434 टोल फ्री नंबर भी रखा है, जहां इससे जुड़ी तमाम जानकारियां ली जा सकती हैं। इस पोर्टल के जरिए राज्य सरकारें भी आपने कामगारों का रजिस्ट्रेशन करा सकती हैं

सीएससी जिला प्रबंधक तौसीफ अहमद जी ने यह जानकारी देते हुए कहा कि ई-श्रम पोर्टल पर असंगठित श्रमिकों के पंजीकरण के लिए विभिन्न शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस पोर्टल का अधिक से अधिक प्रचार प्रसार भी सीएससी संचालको द्वारा लगातार किया जा रहा है

यह योजना का उद्देश्य

सीएससी जिला प्रबंधक तौसीफ अहमद जी ने बताया कि सभी असंगठित कामगारों का एक राष्ट्रीय डेटाबेस बनाने से सरकार को असंगठित कामगारों के लिए कल्याणकारी योजनाओं के लक्षित और अंतिम स्तर तक वितरण पर ध्यान केंद्रित करने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि पिछले महीने शुरू ई-श्रम पोर्टल ‘गेम चेंजर’ है। सरकार पोर्टल पर श्रमिकों को पंजीकृत करने के लिए सभी राज्य सरकारों और अन्य पक्षधारकों के साथ सक्रिय रूप से सहयोग कर रही है।

रजिस्ट्रेशन से क्या होगा फायदा

पोर्टल पर पंजीकरण दो लाख रुपये का दुर्घटना बीमा देता है।

यदि कोई कर्मचारी पोर्टल पर पंजीकृत है और दुर्घटना का शिकार होता है, तो वह मृत्यु या स्थायी विकलांगता पर दो लाख रुपये और आंशिक विकलांगता पर एक लाख रुपये के लिए पात्र होगा।

पंजीकरण पर श्रमिकों को एक सार्वभौमिक खाता संख्या प्रदान की जाएगी, जो यह विशेष रूप से प्रवासी श्रमिकों के लिए सामाजिक सुरक्षा योजनाओं, राशन कार्ड आदि की पोर्टेबिलिटी को सरल बनाएगी।