गाजीपुर-संक्रमण रोकने में महिलाओं की सबसे अहम भूमिका-कंचन शेरपुरिया

• महिलाए समाज और घर में कोविड-19 वैक्सीनशन के लिए सबको प्रेरित करें।
• घर की गृहणी होती फ्रंट लाइनर, उनको रखना होगा अपने स्वास्थ्य का पहले ध्यान।
• महिलाए वही देखभाल और ध्यान अपने पर दें जो वे दूसरों को देती हैं- कंचन शेरपुरिया

गाज़ीपुर। आज सोमवार 31-05-2021 को राष्ट्रीय साक्षरता मिशन आईटी एजुकेशन के पीर नगर प्रशिक्षण केंद्र पर महिला सशक्तिकरण, उत्थान व कोविड-19 से बचाव तथा समाज में व्याप्त कोविड-19 टीकाकरण से सम्बन्धित भ्रांतियों पर सेमिनार का आयोजन कोविड-19 प्रोटोकाल का अनुसरण करते हुए किया गया, जिसका ज़ूम के माध्यम सीधा प्रसारण भी अन्य सदस्यों और दूर के फ्रंट लाइनर्स के लिए किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में श्रीमती कंचन राय शेरपुरिया तथा विशिष्ट अतिथि के रूप में रोटरी क्लब वाराणसी की वरिष्ठ सदस्य श्रीमती रंजना जायसवाल उपस्थित रहीं। विदित है कि श्रीमती कंचन राय जनपद के वरिष्ठ समाजसेवी श्री संजय राय शेरपुरिया, चेयरमैन यूथ रूरल इंटरपेन्योर फाउंडेशन की धर्मपत्नी है और हावर्ड यूनिवर्सिटी से मैनेजमेंट की शिक्षा प्राप्त सामाजिक और व्यवसायिक शिक्षा की वरिष्ठ प्रवक्ता भी हैं, जो देश और विदेशों में कई सेमिनार और ट्रेनिंग प्रोग्राम करके लोगो को लाभान्वित कर चुकी हैं। उन्होंने आज गाज़ीपुर में भी एक महत्वपूर्ण सेमिनार को संबोधित कर उपस्थित महिलाओं से जानकारी साझा की।

Also Read:  गाजीपुर-वर्ष 22 में हमारी सरकार बनवाईये-मुफ्त शिक्षा, स्वास्थ्य और बिजली पाईए-ओमप्रकाश राजभर

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि और विशिष्ट अतिथि का स्वागत राष्ट्रीय साक्षरता मिशन आईटी एजुकेशन की वाईस चेयरपर्सन श्रीमती विनीता सिंह ने कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुए गुलदस्ता देकर किया। साथ ही सदस्यों ने भी फूल दिए।

आयोजित सेमिनार में मुख्य अतिथि श्रीमती कंचन राय शेरपुरिया ने बताया कि कोरोना काल में महिलाओं की भूमिका समाज के साथ उनके अपने घरों में भी बहुत महत्वपूर्ण है, सबसे पहले उन्हें स्वस्थ और खुशनुमा मानसिक परिवेश अपने लिए और समाज के लिए उतपन्न करना जरूरी है, इसके लिए अच्छे खान-पान और व्यायाम का होना अति आवश्यक है। उन्होंने बताया कि कोविड-19 के इस विषम परिस्थिति में प्रत्येक व्यक्ति अपने आप को खुश रखे और फोन द्वारा अपने सभी चिर-परिचित जनों से संपर्क बनाये रखे। चूँकि इस महामारी में एक दूसरे से परस्पर दूरी भी बनाये रखना अनिवार्य है इसका यह मतलब कदापि नहीं कि हम स्वयं को दुनिया से दूर कर लें। एक दूसरे से सम्पर्क बनाये रखने से मानसिक अवसाद की स्थिति उत्पन्न नहीं होती है। गोष्ठी में उपस्थित सभी लोगों से उन्होंने अपील की कि कोविड-19 के टीकाकरण सम्बन्धित समाज में व्याप्त भ्रांतियों पर ध्यान न दें और दुसरो को भी जागरूक करते हुए यथा शीघ्र अपना व अपने परिजनों का टीकाकरण करा लें। कोविड-19 से बचाव में टीकाकरण ही एक मात्र माध्यम है। उन्होंने बताया कि सहेड़ी में “सेण्टर ऑफ़ एक्सीलेंस” का निर्माण किया जा रहा है जहाँ रोज़गार के साथ-साथ प्रशिक्षण भी दिया जायेगा।

Also Read:  शहीदों को श्रधांजलि के साथ पकिस्तान का फुंका पुतला

वहीं राष्ट्रीय साक्षरता मिशन आईटी एजुकेशन संस्था के चेयरमैन संजीव कुमार सिंह ने विरचुअल संवाद ज़ूम के माध्यम से बताया कि उनका “सेण्टर ऑफ़ एक्सीलेंस” रोज़गार उपलब्ध करने की दिशा में प्रशंसनीय कार्य है, जिससे जनपद में युवाओं को रोजगार के अवसर प्रशस्त होंगे और जनपद से पलायन रुकेगा और यहां विकास होगा। इस अवसर पर संस्था की चेयरपर्सन और इनरव्हील अध्यक्ष श्रीमती विनीता सिंह ने बताया कि उन्होंने व उनके परिजनों ने कोविड-19 टीका के दोनों डोज़ ले लिया और वर्तमान में पूर्णतः स्वस्थ हैं। उन्होंने बताया कि जनपद के लोकप्रिय जिलाधिकारी ने टीकाकरण पर ज़ोर देते हुए कल घोषणा की थी कि प्रति दिन न्यूनतम 100 व सप्ताह में 1000 टीकाकरण करने वाली टीम को पांच हज़ार रुपये की आर्थिक प्रोत्साहन राशि दी जाएगी, इससे अच्छे वर्कर्स को प्रोत्साहन मिलेगा।
कोरोना काल में फ्रंट लाइन में सफाई कर्मी, स्वास्थ कर्मी, नगरपालिका, जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन को बेहतरीन कार्य करने के लिए साधुवाद दिया साथ ही जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक और संजय राय “शेरपुरिया” तथा समस्त कोरोना योद्धाओं के प्रति आभार व्यक्त किया जिनके अथक प्रयास व अदम्य साहस से आज गाजीपुर जनपद शीघ्र ही कोरोनामुक्त होने की दिशा में अग्रसर है। उनकी संस्था के समस्त केंद्र प्रबंधक तथा समस्त प्रशिक्षक प्रतिदिन प्रशिक्षणार्थियों तथा उनके अभिभावकों से बात कर कोविड-19 से बचने के
कार्यक्रम के अंत में पत्रकारों से बातचीत करते हुए श्रीमती कंचन राय ने राष्ट्रीय साक्षरता मिशन आईटी एजुकेशन द्वारा चलाये जा रहे प्रशिक्षण कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि समाज के उत्थान में राष्ट्रीय साक्षरता मिशन आईटी एजुकेशन का महत्वपूर्ण योगदान है। संस्था की चेयरपर्सन श्रीमती विनीता सिंह ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि अनलॉक की प्रक्रिया के उपरांत उनके समस्त प्रशिक्षण केन्द्रों पर शासन द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का पूर्णतया पालन किया जायेगा। हमारा प्रयास रहेगा कि हमारे सेण्टर के सभी प्रशिक्षणार्थियों को समय से टीका लग सके। कोरोना अभी पूर्णतः ख़त्म नहीं हुआ है, अभी भी समाज में जागरूकता की ज़रूरत है। हम सभी का नैतिक दायित्व है कि हम सभी प्रशासन का पूर्णतः सहयोग करें।
इस सेमिनार में भरत कुशवाहा, रोहित जयसवाल, आकांक्षा श्रीवास्तव, निशि राय, पूजा श्रीवास्तव, पद्मा श्रीवास्तव, नासरीन नाज़, अंजू आरा, शायरा परवीन, सुरेंद्र सिंह सहित समस्त केंद्र प्रबन्धक तथा प्रशिक्षक उपस्थित थे।

Also Read:  गाजीपुर-शातिर लूटेरा बाईक व तमंचे के साथ गिरफ्तार