गाजीपुर-सर में लगी थी गंभीर चोट जिससे हुई पंचम कन्नौजिया की मौत

गाजीपुर-करण्डा थानाक्षेत्र के खिजिरपुर के मूल निवासी स्व०पंचम कन्नौजिया चहारन चट्टी पर आवास बनवाकर परिवार के साथ रहते थे।बिते शनिवार की रात उनकी संदिग्ध परिस्थितियों मे मौत हो गयी।मृतक के पुत्र की तहरीर पर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट मे पुष्टि हुई है कि पंचम की मौत किसी साँप के काट ने नहीं बल्कि सर मे लगी गंभीर चोट की वजह से हुई है।अब पुलिस पंचम की की मौत को हत्या मानकर तफ्तीश मे जूटी हुई है। जानकारी के अनुसार खिजिरपुर गांव निवासी पंचम कन्नौजिया आयु 55 वर्ष पुत्र स्व०मेवालाल खेती-बारी के साथ ही झाड़-फूंक का कार्य भी करता था। शनिवार की शाम वह अपने कुछ साथियों के साथ खाने-पाने की पार्टी किया था। इसके बाद रात में धान के खेत में सिंचाई के लिए चला गया। जब सुबह भी वह घर नहीं लौटा तो पत्नी निर्मला उसे खोजने के लिए खेत की तरफ निकल पड़ी। इसी बीच कुछ लोगों ने उसे बताया कि उसका पति खेत में सोया हुआ है, जगाने पर भी जाग नहीं रहा है। इसकी जानकारी होते ही वहां ग्रामीणों की भीड़ लग गई। लोग आशंका व्यक्त करने लगे कि शायद खेत की सिचाई करते समय रात्रि मे उसे सर्प ने डंसा है। इस पर परिजन उसे अमवा की सती माई ले गए, जहां सर्प डंसने की बात स्पष्ट नहीं हो पाई। इस पर परिजन शव लेकर पुलिस चौकी खिजिरपुर थाना करण्डा पहुंचे और मौका मुआयना करने की बात कहने लगे। पुलिस के गंभीर न होने से नाराज ग्रामीणों ने गाजीपुर-चोचकपुर मार्ग को जाम कर दिया। पुलिस ने लोगों को समझाकर करीब 30 मिनट बाद जाम समाप्त कराया। इस संबंध में थानाध्यक्ष अजय कुमार पांडेय ने बताया कि मृतक के पुत्र मनोज कन्नौजिया ने मामले मे तहरीर दिया है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलने के बाद पुलिस के जाँच एंगल ही बदल गया है।मृतक पंचम के तीन पुत्र मनोज ,विनोद व सनोज है।मनोज वर्तमान मे क्षेत्र पंचायत सदस्य भी है। मृतक पंचम को चहारन चट्टी पर आवास मिला था वह परिवार के साथ चहारन चट्टी पर ही रहता था।