गाजीपुर-सायद दो-चार के मरने का इन्तजार है ?

0
326

गाजीपुर-सरकारी महकमे लगता है हादसों का ही इंतजार करते हैं और सरकारी महकमों को ही हम दोष क्यों दें? हम नागरिक भी उन हादसों के सोने का इंतजार करते हैं। पीरनगर चौराहे से विकास भवन को जाने वाले मार्ग पर बिगत कई वर्षों से एक सूखा पेड़ अब गिरा तब गिरा की स्थिति में खडा है। विकास भवन में कार्य करने वाले सैकड़ों कर्मचारी सहित दर्जनों अधिकारी पीर नगर चौराहे से घूम कर विकास भवन में प्रवेश करते हैं। पीजी कालेज की तरफ जायेंगे तो बांये मुड़़ कर दस कदम चलने पर ही इस सुखे पेंड़ महाराज के दर्शन होता है।इस पेड़ के नीचे से विद्युत विभाग की दो आपूर्ति लाइने गुजरती हैं। एक हाईटेंशन और उसके नीचे लोटेंशन की है। विकास भवन में काम करने वाले सैकड़ों कर्मचारी या अपना कार्य करने विकास भवन में आने वाले आम लोग उन्हीं पेड़ के नीचे स्थित चाय-पान की दुकानों पर चाय समोसा आदि खाने आते है। यदि खुदा-न-खास्ते कभी सूखे हुए पेड़ की डाल टूट कर हाईटेंशन तार पर गिरेगी और हाईटेंशन तार टूट कर लो टेंशन के तार पर गिरेगा तो निश्चित तौर से वहां एक बडा हादसा होना निश्चित है ,लेकिन बगल में ही स्थित पीर नगर पावर हाउस के कर्मचारियों की भी दिव्य दृष्टि अभी तक इस हादसे को दावत देते पेंड़ पर नहीं पड़ी है सायद दो-चार के मरने का इन्तजार है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here