गाजीपुर-सीएमओ की प्रेस वार्ता, उन्होंने क्या-क्या बताया

गाजीपुर 04 जनवरी 2022-राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के अन्तर्गत‘‘ आजादी के अमृत महोत्सव आईकोनिक वीक आफ हेल्थ‘‘ के अन्तर्गत जनपद मे दिनांक 03 जनवरी 2022 से 09 जनवरी 2022 तक के मध्य कोविड-19 के नियमो का पालन करते हुए/कराते हुए क्षय रोग के प्रति जागरूकता हेतु विभिन्न गतिविधियों का आयोजन कराया जाना है, के सम्बन्ध मे आज मुख्य चिकित्साधिकारी की अध्यक्षता मे एक प्रेस वार्ता आयोजित की गयी।

जिसमे दिनांक 05/06 जनवरी 2022 को जनपद मुख्यालय पर टी0यू0स्तर पर स्कूल/कालेज/मदरसा/एन0सी0सी0/एन0एस0एस0 के छात्रों का संवेदीकरण, दिनांक 07/08 जनवरी 2022 को जनपद मुख्यालय पर प्रमुख धर्म गुरूओ का क्षयरोग विषय पर संवेदीकरण, एवं दिनांक 09 जनवरी 2022 को डी0एम0सी0/ग्राम स्तर पर जनप्रतिनिधियों की बैठक, ग्राम स्तर पर सामुदायिक वैठक, नुक्कड़ नाटक, मैजिक शो एवं अन्य जागरूकता गतिविधियों का आयोजन किया जायेगा। प्रेस वार्ता के दौरान बताया गया कि मा0 प्रधानमंत्री जी द्वारा 2025 तक टी0बी0 मुक्त भारत बनाने का सपना है।

भारत सरकार ने नई स्वास्थ्य निति वर्ष 2017 मे वर्ष 2025 तक क्षय रोग के उन्मूलन का लक्ष्य रखा गया है। उ0प्र0 के राज्यपाल महोदया द्वारा सभी अधिकारियो, कर्मचारियो एवं मा0 जनप्रतिनिधियो को 18 वर्ष तक के टी0बी0 मरीजो को गोंद लेने के लिए प्रेरित किया गया है, राज्यपाल महोदया द्वारा स्वयं 21 टी0बी0 मरीजो को गोंद लिया गया है, एवं जनपद गाजीपुर मे वर्ष 2021 मे कुल 11 टी0बी0 गरीजो को गोंद लिया गया है।

प्रेस वार्ता के दौरान बताया गया कि राष्ट्रीय क्षय रोग उन्मूलन कार्यक्रम का लक्ष्य टी0बी0 रोग से मृत्यु दर मे 90 प्रतिशत कमी वर्ष 2025 तक करना है एवं टी0बी0 के नये रोगियो मे 80 प्रतिशत की कमी करना है। वार्ता के दौरान मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि क्षय रोग के सम्भावित लक्षणो मे दो सप्ताह या उससे अधिक समय से खांसी होना,दो सप्ताह या उससे अधिक समय से बुखार आना, वजन मे लगातार कमी आना, भूख का न लगना तथा सीने मे दर्द होना इसके लक्षणो के अन्तर्गत आता है। साथ ही उन्होने इसके बचाव हेतु बताया कि खांसते या छिकते समय हाथ व रूमाल का प्रयोग करे, मास्क का प्रयोग करे, इधर-उधर न थूके, धुम्रपान, तम्बाकू एवं शराब का सेवन न करे, नियमित पोषण युक्त आहार का सेवन करें एवं क्षय रोग होने पर नियमित दवा का सेवन करने की सलाह दी। क्षय रोग विभाग की सभी सेवायें निःशुल्क है जिसमे बलगम की जांच, एक्स-रे, सी0बी0नाट एवं ट्रूनाट जांच, कल्चर एवं ड्रग सेन्सटीविटी जांच शामिल है। क्षय रोग विभाग मे सभी जांच उपलव्ध है जिसमे 32 जगहों पर माइक्रोस्कोपी जांच,टी0बी0 मरीजो की सुविधा के लिए कुल 19 टी0बी0 यूनिट स्थापित किये गये है जो जनपद के सभी तहसील व ब्लाक सी0एच0सी0/पी0एच0सी0 मे स्थित है, इस जनपद मे एम0डी0आर0 मरीजो के लिए डी0आर0टी0बी0 सेन्टर वार्ड, 4 बेड का जिला चिकित्सालय मे खोला गया है जिसमे 2 बेड महिला और 2 बेड पुरूष के लिए आवंटित है साथ ही 02 सी0बी0 नाट जांच लैब है जो जिला चिकित्सालय एवं सामु0 स्वा0 केन्द्र मुहम्मदाबाद मे कार्यरत है।

मुख्य चिकित्साधिकारी ने बताया कि सभी टी0बी0 मरीजो को पोषण योजना के अन्तर्गत प्रतिमाह रू0 500.00 का इनसेन्टिव डी0बी0टी0 के माध्यम से भुगतान किया जाता है जब तक मरीज की टी0बी की दवा चलती है। टी0बी0 मरीजो की सूचना देने वाले को भी इन्फार्मन के रूप मे रू0 1000.00 का इनसेन्टिव भुगतान किया जाता है। इसमे कोई भी हो सकता है, साथ ही पूरे वर्ष मे दो बार सक्रिय टी0बी0 खोज अभियान चलाया जाता है जिसमे घर-घर जाकर टी0बी0 के लक्षण पूछे जाते है। जिला कारागार, बाल सुधार गृह, अनाथालय,वृद्धाश्रम, मदरसे, ईट भट्ठा, सब्जी व फल मण्डी, लेबर मार्केट, मलीन बस्ती, मुर्गा, मछली मण्डी इत्यादि जगहो पर भी सक्रिय टी0बी0 खेाज अभियान चलाया जाता है। वर्ष 2021 मे टी0बी0 खोज अभियान मे खोजे गये मरीजो की सं0 105 तथा गाजीपुर मे कुल एम0डी0आर की संख्या वर्ष 2021 मे माह जनवरी से अब तक 125 है।
प्रेस वार्ता के दौरान मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 हरगोविन्द सिंह, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डी0पी0 सिन्हा, डा0 एम0के0 सिंह, क्षय रोग अधिकारी तथा गणमान्य पत्रकारगण उपस्थित रहें।