गाजीपुर-हत्या सुनियोजित या . . .

669

गाजीपुर-सैदपुर थानाक्षेत्र के देवचंदपुर स्थित किसान सेवा केंद्र पेट्रोल पंप पर बुधवार की रात ताबड़तोड़ फायरिंग कर अधेड़ को मौत के घाट उतारने वाली घटना के दूसरे दिन भी पूरे गांव में सन्नाटा पसरा रहा। पूरे गांव में सिर्फ पुलिस के बूटों की धमक गूंज रही थी। चट्टी चौराहों पर सुबह के समय कुछ लोग घटना की चर्चा करते दिखे, लेकिन पूरे दिन पूरी तरह से सन्नाटा पसरा रहा। गांव में घटना के बाद से ही पीएसी तैनात कर दी गई है। वहीं घटना के बाद अगली रात में पुलिस ने मुख्य आरोपी हिस्ट्रीशीटर करमवीर सिंह उर्फ सनी के मकान के कुछ अवैध हिस्सों को जेसीबी लगवाकर ढहा दिया। हत्यारोपी करमवीर सिंह के घर पर लगा गेट अवैध जमीन पर बना था, वहीं दबंगई के दम पर उसने एक सार्वजनिक रास्ते पर भी अवैध कब्जा करके उस पर निर्माण करा दिया था। जिसे रात में ढहा दिया गया। हत्यारोपी करमवीर और मृतक त्रिभुवन का घर बेहद करीब है। एक प्रकार से दोनों पड़ोसी ही थे। वहीं बदमाशों की तफ्तीश में क्राइम ब्रांच समेत एसपी द्वारा गठित सभी 5 टीमें ताबड़तोड़ छापेमारी करके हत्यारों की तलाश में जुटी हैं। इसके अलावा शुक्रवार को पुलिस अधीक्षक शहरी गोपीनाथ सोनी कोतवाली पहुंचे और वहां घंटों तक बैठकर कोतवाल रविंद्र भूषण मौर्य से गहन वार्ता की। गौरतलब है कि कोरोना संक्रमण के चलते घटना की रात कोतवाली का प्रभारी एसएसआई घनानंद त्रिपाठी पर था। शुक्रवार को ही कोतवाल ने कार्यभार लिया। हालांकि इस मामले में पुलिस को हत्यारों का न तो कोई लोकेशन मिला है और न ही अभी तक कोई सफलता मिली है। पुलिस उनकी तलाश में हाथ पांव मार रही है। इधर नगर के एक व्यक्ति ने बताया कि हत्या भले ही सुनियोजित लग रही है लेकिन सुनियोजित नहीं है। क्योंकि हत्यारोपी करमवीर सिंह की 1 नवंबर या दिसंबर को शादी होना तय था इसी के साथ हत्या के एक दिन पहले तक सैदपुर नगर में घूमता दिखता था। अभी बीते सप्ताह ही वो नगर में दिखा था, लेकिन तब किसी को अंदेशा नहीं था कि वो इस तरह के कृत्य को अंजाम देगा।

Play Store से हमारा App डाउनलोड करने के लिए नीचे क्लिक करें- Qries