गाजीपुर- हुजुर विकास भवन पर कब होगी ऩजरे इनायत-दुर्गेश श्रीवास्तव

570

गाजीपुर-पूरा जनपद ओडीएफ घोषित हो चुका है, लेकिन पूरे जनपद को ओडीएफ यानि खुले में शौच मुक्त बनाने में अपनी अहम भूमिका निभाने वाला जनपद का विकास भवन खुद साफ सुथरे शौचालय के लिए तरस रहा है। विकास भवन स्थित शौचालयों की साफ-सफाई और मरम्मत के लिए कई बार राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के जिलाध्यक्ष दुर्गेश कुमार श्रीवास्तव जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी सहित सभी जिम्मेदार अधिकारियों से पत्राचार कर चुके है। 15 दिसंबर 2017,6जनवरी 2018,11 मई 2018,25 मई 2018 को दुर्गेश कुमार श्रीवास्तव ने इस संदर्भ में पत्राचार किया है। सरकारी रवैये से दुखी जिलाध्यक्ष दुर्गेश श्रीवास्तव ने कहा कि प्रतिदिन हजारों की संख्या में जनपद के कोने-कोने से लोग अपने कार्य को लेकर विकास भवन आते हैं लेकिन टूटे-फूटे तथा गंदगी युक्त शौचालय को देख कर खुले में शौच करने के लिए बाध्य होते हैं।इस लापरवाही का सबसे दुखद पहलू यह है कि सबसे अधिक परेशानी महिला कर्मचारियों और फरियादियों को होती है। साहब लोगों के आफिस से अटैच लैट्रिन और बाथरूम है उन्हें कर्मचारियों के समस्या और परेशानी से क्या लेना देना ?

आज दिनांक 3 जुलाई 2019 को पुनः सौचालय की समस्या को लेकर राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद की विकास भवन मे बैठक हुई। बैठक के बाद पुनः मुख्य विकास अधिकारी को संबोधित पत्र प्रेषित किया गया। इस पत्र में कहा गया है कि यदि एक सप्ताह के अन्दर यदि समस्या का समाधान नहीं होगा तो संगठन आन्दोलन के लिए बाध्य होगा। आज की बैठक में अबू बकर,शोभा, पुजा,कान्ति सिंह, अमित श्रीवास्तव, राकेश पान्डेय, महबूब, अभिषेक राय,रवि सिंह, परवेज जमाल,राजबहादुर सहित सैकड़ों कर्मचारियों ने भाग लिया।

Play Store से हमारा App डाउनलोड करने के लिए नीचे क्लिक करें- Qries