गाजीपुर-हे राम ! 87 वर्षीय बुजुर्ग आमरण अनशन पर, लेकिन क्यों ?

गाजीपुर-नगसर थाना क्षेत्र के रेलवे स्टेशन के पास भू – माफियाओं द्वारा अवैध ढंग से किए गए कब्जे को लेकर 87 वर्षीय वयोवृद्ध उदय नारायण पांडे नगसर मीर राय के परिजनों की चकआउट और आबादी सहित अनेक जमीनों पर अबैध कब्जा से मुक्ति की मांग को लेकर तीन बार अनशन कर चुके अब चौथी बार आमरण अनशन पर बैठे है।तीसरी बार अनशन के समय एसडीएम सेवसाई राजेश प्रसाद के इस आश्वासन पर कि जल्द ही जमीन की पैमाइश करा कर अवैध कब्जा से जमीन मुक्त करा दिया जायेगा, अनशन समाप्त किया था। लेकिन तय अवधि के समाप्त होने के बाद भी कोई उचित कार्यवाही नहीं हुई।जिस से दुखी होकर डेढ़ माह बाद शनिवार को अनिश्चितकालीन आमरण अनशन इस संकल्प के साथ प्रारंभ किया है कि यह अंतिम सांस तक जारी रहेगा। अनशनकारी बुजुर्ग ने बताया कि मुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री, शिक्षा सचिव, जिला विद्यालय निरीक्षक, जिलाधिकारी, एसपी ,एसडीएम,थाना प्रभारी सहित संबंधित अधिकारियों का ध्यान आकृष्ट कराने के बाद ही यह अनशन प्रारंभ किया हूं,जो आखिरी सांस तक जारी रहेगा। अवैध कब्जा धारक श्री जगजीवन राम इंटर कॉलेज की प्रबंध समिति एवं प्रधानाचार्य सहित अनेकों भू माफियाओं द्वारा हमारे परिवार की जमीन को कब्जा कर लिया गया है।शासन- प्रशासन कोई सार्थक पहल नहीं कर रहा है। एसडीएम सेवराई ने प्रयास किया लेकिन सिर्फ भ्रमित करने के लिए।क्षुब्ध होकर मुझे फिर से आमरण अनशन पर बैठना पड़ रहा है। मेरे साथ यदि कोई अनहोनी-होनी होती है तो उसके लिए जिम्मेदार भूमाफिया और शासन प्रशासन के लोग होंगे।