गाजीपुर-010 ज्ञात व 12 अज्ञात के खिलाफ लेखपालों ने दर्ज कराया मुकदमा

0
515

गाजीपुर-करीमुद्दीनपुर थाना क्षेत्र के ताजपुर मिश्रपुरा गांव में रविवार को शाम लगभग 3 बजे शेष बचे अतिक्रमण की जमीन मुक्त कराने पहुंची राजस्व कर्मियों की टीम व पुलिस बल के जवानों पर अतिक्रमणकारियों ने हमला बोल दिया।पुलिसकर्मी तो मौके से खिसक लिए लेकिन जेसीबी चालक विनोद राजभर तथा लेखपाल अंकित यादव, शराफत अली,अरूणेश रंजन, कुमार शाह तथा लेखपाल वीरेंद्र राम को लाठी-डंडे से पीटकर बुरी तरह से घायल कर दिया।

राजस्व कर्मी सोमवार की सुबह करीमुद्दीनपुर थाने पहुंचकर अपने साथ मारपीट करने वाले अतिक्रमणकारियों के खिलाफ लेखपाल यतीश कुमार दुबे ने 10 नामजद तथा 12 अज्ञात हमलावरों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज कराया।एफआईआर करने के बाद पुलिस ने मेडिकल जाँच हेतू प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर भेज दिया। राजस्व विभाग की टीम रविवार को कुछ पुलिसकर्मियों के साथ शेष बची जमीन को अतिक्रमण मुक्त कराने गयी थी।राजस्व कर्मियों को दोबारा देखते ही अतिक्रमणकारी आक्रोशित हो गये और जेसीबी चालक सहित लेखपालों को ईट पत्थर व लाठीडंडे से दौडा दौडा कर पीटने लगे। पुलिस के जवान अपनी कम संख्या देख खिसकने मे ही अपनी भलाई समझे। राजस्व कर्मियों ने इसकी सूचना जिलाधिकारी के साथ-साथ अपने अन्य उच्चाधिकारियों को दी ।सूचना मिलते ही जिला प्रशासन हरकत में आया और मौके पर तहसीलदार, नायब तहसीलदार संदीप श्रीवास्तव मोर्चा संभाला। मुहम्मदाबाद सर्किल के सभी थानों की पुलिस को मौके पर बुलाकर बलवाइयों को खदेड़ा गया। देर रात तक अतिक्रमण मुक्त कराने का कार्य पूरा किया जा सका।इस कार्य की मानिटरिंग खुद जिलाधिकारी ने एडीएम के साथ किया।मिश्रपुरा गांव निवासी बलिराम यादव ने वर्ष 2014 मे हाईकोर्ट में सरकारी जमीन को अतिक्रमण मुक्त कराने हेतू याचिका दाखिल किया था।हाईकोर्ट ने मामले की सुनवाई करते हुए बेदखली का आदेश पारित किया था।इस बेदखली से मुखराम, संजय,विनोद, कन्हैया, उमेश ,कालिका, मिश्री, राजेंद्र, चन्द्रबली व मुखलाल सहित 10 लोगों का कब्जा हटा दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here