गाजीपुर-03 जनवरी को हो सकती है मानदेय बृद्धि की घोषणा

गाजीपुर-चुनावी वर्ष 2022 में उत्तर प्रदेश सरकार आम आदमी के साथ सरकारी कर्मचारियों व मानदेय कर्मीयो को झमाझम सुविधाओं की घोषणा कर रही है।अभी कुछ दिन पूर्व आशा कार्यकर्ताओं के मानदेय में सरकार द्वारा बृद्धि की घोषणा के बाद अब अगला नंबर प्रदेश की आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं व सहायिकाओं का आने वाला है। 5 जनवरी के बाद प्रदेश मे कभी भी आचारसंहिता की घोषणा हो सकती है इसलिए सरकार जल्दी-जल्दी जो भी घोषणा व शिलान्यास कर लेना चाहती है। पूरे देश में 13 लाख 29 हजार आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं 11 लाख 79 हजार आंगनवाड़ी सहायिका कार्यरत है। उत्तर प्रदेश में 1लाख 88 हजार आंगनवाड़ी केंद्र हैं तथा 1 लाख 35 हजार आंगनबाड़ी कार्यकर्ता कार्यरत है।अभी कुछ दिनों पूर्व उत्तर प्रदेश सरकार ने आंगनबाड़ियों की 53 हजार रिक्त पदों पर प्रदेश के निवासियों से आवेदन मांगा था. इन 53 हजार रिक्तियों मे 30 हजार आंगनवाड़ी कार्यकर्ता जिनकी आयु 62 वर्ष पूरी हो गई थी और रिटायर हो गई थी, उनके द्वारा रिक्त पद था तथा 23 हजार पद पहले से ही रिक्त था। जनपद गाजीपुर में लगभग 4100 सौ आंगनवाड़ी केन्द्र है।लगभग 4 हजार के आसपास आंगनबाड़ी व सहायिकाओं की संख्या है। प्रदेश की आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने अपने मानदेय मे बृद्धि को लेकर कई बार जिला से लगायत प्रदेश मुख्यालय तक धरना प्रदर्शन कर चुकी हैं।उत्तर प्रदेश पुलिस के द्वारा कई बार लठियाई भी जा चुकी हैं।कोरोना काल मे आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं व सहायिकाओं के कार्य की केन्द्र व प्रदेश सरकार प्रसंशा भी कर चूकी है।प्रदेश सरकार से नाखुश आंगनबाड़ियों को खुश करने के लिए प्रदेश सरकार 3 जनवरी 2021 को मानदेय वृद्धि का तोहफा दे सकती है। आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं व सहायिकाओं के मानदेय में कितनी वृद्धि होगी यह तो सरकार की घोषणा के बाद ही पता चलेगा लेकिन लग रहा है कि 3 जनवरी 2021 सोमवार के दिन प्रदेश की सरकार आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं को मानदेय वृद्धि का तोहफा दे सकती है।

Also Read:  गाजीपुर-उद्योग स्थापना हेतू भूखंड उपलब्ध-जिलाधिकारी