गाजीपुर-80 चित्रगुप्त वंशी कोरोना काल में नहीं रहे

गाज़ीपुर। कोरोना की महामारी ने गाज़ीपुर के तकरीबन अस्सी चित्रगुप्तवंशियों को देश व समाज से छीन लिया। इनके परिजन इनकी स्मृति को जीवंत बनाए रखने के लिए 13 / 19 इंच का चित्र बनवा रहे हैं जो 19 अगस्त को ददरी घाट चित्रगुप्त मन्दिर में होने वाली सामूहिक प्रार्थना एवं स्मृति सभा में विशेष आकर्षण का केंद्र होंगे।

कायस्थ संगठनों ने शुक्रवार को संयुक्त बैठक कर इनकी स्मृति में, इनकी आत्मा की शांति के लिए चित्रगुप्त मन्दिर, ददरी घाट, गाज़ीपुर में प्रस्तावित 19 अगस्त की सामूहिक प्रार्थना सभा एवं स्मृति को सफल बनाने का संकल्प लिया और कहा कि पुरखों का वन्दन एक अभिनन्दनीय कार्य है। इसमें हर तरह का सहयोग किया जाएगा।

श्री चित्रगुप्तवंशीय सभा, ददरी घाट, गाज़ीपुर के तत्वाधान में चित्रांश समाज के हित में कार्य कर रही जिले की सभी संस्थाओं के पदाधिकारी सामूहिक प्रार्थना एवं स्मृति सभा के लिए एक मंच पर बैठे और कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए आपस में विचार विमर्श किया। इसके तहत सबसे पहले समाज के उन सदस्यों की चर्चा हुई जो कोरोना काल में नहीं रहे। इस चर्चा के आधार पर अभी तक की प्राप्त जानकारी के अनुसार तकरीबन अस्सी लोगों की सूची बनी है जो कोरोना की वजह से देश व समाज से छिन गए।

Also Read:  ये पत्रकार बिचारे,भौंकाल के मारे

बैठक के बाद श्री चित्रगुप्तवंशीय सभा, ददरी घाट, गाज़ीपुर के मंत्री अजय कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि बैठक में सभी चित्रांश संस्थाओं के अध्यक्ष एवं मंत्री के अलावा समाज के कुछ वरिष्ठ अभिभावक भी अपने विचार रख्खे और कहा कि 19 अगस्त को होने वाली सामूहिक प्रार्थना एवं स्मृति सभा समाज को कोरोना के मुकाबले के साथ ही अन्य मसलों के समाधान में भी समाज को नई दिशा देगी।

Also Read:  गाजीपुर-आक्रोशित पत्रकारों की मुख्यमंत्री से मांग

बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि 19 अगस्त को श्री चित्रगुप्त मंदिर ददरी घाट परिसर में प्रस्तावित सामूहिक प्रार्थना सभा एवं स्मृति सभा दोपहर 12:00 बजे प्रारम्भ होगी और सायंकाल चार बजे तक चलेगी।

बैठक की अध्यक्षता श्री आनंद शंकर श्रीवास्तव एडवोकेट ने की और संचालन ओमप्रकाश श्रीवास्तव ने किया ।
अंत में श्री चित्रगुप्त वंशीय सभा के मंत्री अजय कुमार श्रीवास्तव ने सबके प्रति आभार व्यक्त किया और कहा कि राजनीति में व्यापक हिस्सेदारी के लिए भी समाज को इसी तरह से एकजुट होकर कार्य करना चाहिए।

Also Read:  जाम के कारण प्रसूता नाव से पंहुची अस्पताल

बैठक में सर्वश्री अजीत नारायण लाल, आलोक श्रीवास्तव, अरुण श्रीवास्तव, अरुण श्रीवास्तव (चुन्नू), प्रवीन श्रीवास्तव, संदीप श्रीवास्तव, नीरज श्रीवास्तव, शिव शंकर सिन्हा , प्रमोद सिन्हा, भूपेंद्र , विभोर , कमलेश श्रीवास्तव, संदीप श्रीवास्तव, पप्पू लाल, शरद वर्मा, श्री प्रकाश श्रीवास्तव, अनिल श्रीवास्तव, प्रेमानंद , प्रवीण, नितिन आनंद , क्षितिज श्रीवास्तव, राजेश श्रीवास्तव, अंजनी श्रीवास्तव, अनुज श्रीवास्तव, सुबोध सत्संगी, शैलेंद्र श्रीवास्तव , पंकज श्रीवास्तव , अशोक कुमार श्रीवास्तव , रूद्र श्रीवास्तव, विजय कुमार श्रीवास्तव, आदि चित्रांश प्रमुख रूप से शामिल थे।भवदीय अजय कुमार श्रीवास्तव मंत्री