जौनपुर-तीन सगी बहनों ने ट्रेन से कटकर की आत्महत्या

जौनपुर- जफराबाद-सुल्तानपुर रेल प्रखंड पर बदलापुर थाना क्षेत्र के फत्तूपुर गांव के पास शुक्रवार की सुबह रेल पटरी पर तीन किशोरियों का क्षत-विक्षत शव मिलने से सनसनी फैल गई। कुछ ही देर बाद तीनों की शिनाख्त हो गई। महराजगंज थाना क्षेत्र के अहिरौली गांव निवासी तीनों सगी बहनें थीं। गुरुवार की शाम मां से कहासुनी के बाद तीनों घर से चुपके से निकलीं और ट्रेन के आगे कूदकर मौत को गले लगा लीं। अहिरौली ग्राम पंचायत की आशा देवी के पति राजेंद्र गौतम का देहांत हो चुका है। आशा देवी अपनी तीन पुत्रियों 18 वर्षीय काजल, 16 वर्षीय प्रीति, 15 वर्षीय आरती व इकलौते 17 वर्षीय पुत्र गणेश के साथ रहती थीं। शाम को किसी बात पर मां- बेटियों में तीखी तकरार हो गई। इससे क्षुब्ध तीनों बहनें चुपके से घर से पैदल गांव से गुजरी नहर मार्ग से बदलापुर की तरफ चल पड़ीं और फत्तूपुर में ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर लीं।पति की वर्षों पूर्व बीमारी से मौत के बाद आशा देवी पहले गांव में लोगों के घर में झाड़ू-पोछा कर परिवार का भरण-पोषण कर रहीं थीं। दो वर्ष पूर्व बीमारी के कारण आंखों की रोशनी चली गई, ऐसे में घर की माली और खराब हो गई। पुत्र गणेश घर परिवार की जिम्मेदारियों से पूरी तरह उदासीन था। उसकी लत भी अच्छी नहीं है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

Also Read:  गाजीपुर-हत्यारा विद्युत विभाग