जौनपुर-हत्या के बाद बवाल, ग्रामीणों ने फूंका एंबुलेंस

जौनपुर- युवा पहलवान की हत्या के बाद जनपद के धर्मापुर में बवाल हो गया। गौराबादशाहपुर के धर्मापुर में आक्रोशित ग्रामीणों ने लाठी डंडा  लेकर प्रसाद तिराहे के पास कई वाहनों में तोड़फोड़ शुरू कर दी। इससे कई यात्रियों को भी चोटें आईं। सूचना पर पहुंची पुलिस और 112 के दस्ते को भी ग्रामीणों ने दौड़ा लिया। 108 एम्बुलेंस को आग लगा दी गई। करीब एक घंटे तक ग्रामीण उपद्रव करते रहे। भीड़ को बेकाबू होते देख कई थानों की फोर्स पहुंची तब जाकर पुलिस ग्रामीणों को खदेड़ पाई। 

मौके पर जिलाधिकारी मानिस वर्मा, एडीएम रजनीश राय, एसपी अजय साहनी, एएसपी नगर संजय कुमार भी पहुंच गए। सायरन बजाते हुए पुलिस गांव में घूमती रही। घटना में 12 से अधिक वाहन तोड़े गए। फायर ब्रिगेड के वाहन को मौके पर बुलाकर जल रहे वाहनों के आग पर काबू पाया गया। इस दौरान तेजी बाजार की तरफ से आ रहे एक परिवार की कार का भी शीशा तोड़ दिया गया। कार में मौजूद महिलाओं ने किसी तरह जान बचाई। 

चाकू मारकर हत्या के बाद फूटा गुस्सा-धर्मापुर ठकुरची निवासी 22 वर्षीय बादल यादव पुत्र लक्ष्मीनारायण अपने साथी जफराबाद थाना क्षेत्र के उतरगावां निवासी अंकित यादव के साथ अखाड़े से पहलवानी की प्रैक्टिस कर धर्मापुर बाजार स्थित विजय जायसवाल के अंडे की दुकान पर अंडा खाने पहुंचे। इतने में वहां पहुंचे कुछ युवकों से विवाद हो गया। एक युवक ने अंडे की दुकान से चाकू उठाकर दोनों पर हमला कर दिया। चाकू के हमले में दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए।

स्थानीय लोगों ने दोनों को जिला अस्पताल पहुंचाया। घटना की जानकारी पर आक्रोशित ग्रामीणों ने पहले लाठी डंडे लेकर अंडे की दुकान को क्षतिग्रस्त कर दिया औऱ दुकानदार की पिटाई की। सूचना पर पहुंची पुलिस ने उस समय तो लोगों को शांत करा दिया था। इसी बीच अस्पताल में पहलवान बादल को मृत घोषित कर दिया गया। पहलवान की मौत की खबर मिलते ही ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा। 
सैकड़ों की संख्या में लाठी डंडे लेकर ग्रामीण प्रसाद तिराहे के पास पहुंच गये। वहां किसी भी वाहन को जाने आने से रोक दिया। जो भी वाहन दिखता उस पर हमला कर देते। इससे कई यात्रियों को चोटें आईं। भारी फोर्स ने किसी तरह पहुंचकर लोगों को खदेड़ा। देर रात तक इलाके में तनाव बना रहा। आला अधिकारी भी मौके पर डटे रहे।