दहेज के लिए प्रताड़ित युवती ने किया आत्महत्या

गाजीपुर – दुल्ल्हपुर थाना क्षेत्र के चकमकपुर गांव निवासी शामा राजभर की पुत्री रंजना की शादी पिछले वर्ष 17 जून को सादात थाना क्षेत्र के सरदरपुर गांव निवासी अमित राजभर के साथ हुई थी। पिता का आरोप है कि शादी के कुछ ही दिन बाद ससुराल के लोग घर बनवाने के लिए दहेज के रूप में और रुपये मांगने लगे। रंजना ने इसका विरोध किया तो उसे ससुराल के लोग प्रताड़ित करना शुरू कर दिया। रंजना ने इससे अपने मायके वालों को अवगत कराया। मायके वाले ससुराल के लोगों से बात किए तो वे चुप्पी साध गए। कुछ दिनों तक सब ठीक चलता रहा। इसी बीच रंजना ससुराल वालों की मर्जी से मायके आ गई। तीन माह पूर्व उसका गौना हुआ। वह जब विदा होकर ससुराल पहुंची तो उससे फिर रुपयों की मांग की जानी लगी। रोज-रोज की किचकिच से आजिज आकर रंजना ससुराल के लोगों से भिड़ गई। इससे गुस्साए ससुराल वालों ने उसे मारपीट कर घर से निकाल दिया। सोमवार को वह मायके आ गई और मायके आने के बाद वह गुमशुम रहने लगी। मंगलवार की शाम वह किसी को बिना कुछ बताए घर से निकल गई और गोसइनियां गांव के पास भटनी से वाराणसी पैसेंजर ट्रेन से कटकर जान दे दी। थानाध्यक्ष राजू कुमार ने बताया कि मृतका के पति अमित, ससुर लालचंद, सास माधुरी, चाची शशिकला, देवर बब्बन व बबलू , ननद ज्योति तथा संगीता के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर तलाश की जा रही है।

Also Read:  गाजीपुर-वीर अब्दुल हमीद के गांव वाले क्यों हुए खुश ?