नई दिल्ली-ब्राह्मण मतदाताओं को लुभाने के लिए बीजेपी नया पैंतरा

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर बीजेपी की ब्राह्मण मतदाताओं पर नजर है। इसी कड़ी में ब्राह्मण समुदाय को लुभाने के लिए भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने 4 सदस्यीय कमेटी का गठन किया है. इस 4 सदस्यीय कमेटी में ब्राह्मण समुदाय के बड़े नेता हैं. इनमें राज्यसभा चीफ व्हिप शिव प्रताप शुक्ला, पार्टी नेता अभिजात मिश्रा, सांसद राम भाई मोकारिया और डॉ महेश शर्मा शामिल हैं. बीजेपी के ये चारों ब्राह्मण नेता प्रदेश की 403 विधानसभा क्षेत्रों का दौरा करेंगे. बीजेपी के इस कार्यक्रम में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी भी शामिल रहेंगे, जिनका बेटा लखीमपुर खीरी हादसे में आरोपी है।

दरअसल बीजेपी ने यह कदम इस बात को ध्यान में रखते हुए उठाया है कि राज्य में ब्राह्मण समुदाय के 17 फीसदी वोट हैं जो कि चुनाव में एक अहम भूमिका निभा सकते हैं. सूत्रों का कहना है कि बीजेपी इस कार्यक्रम के जरिए ब्राह्मण मतदाताओं को यह संदेश देना चाहती है कि पार्टी ने उनकी भलाई के लिए अथक प्रयास किए हैं।

पार्टी से जुड़े सूत्रों का कहना है कि इस कमेटी के सभी सदस्य ब्राह्मण समुदाय के नेताओं से मिलेंगे और राम मंदिर, काशी विश्वनाथ कॉरिडोर और अन्य मुद्दों पर चर्चा करेंगे. इस दौरान कमेटी के सदस्य नरेंद्र मोदी सरकार और योगी सरकार द्वारा ब्राह्मणों की भलाई के लिए किए गए कार्यों की जानकारी देंगे, साथ ही प्रदेश में परशुराम तीर्थ से संबंधित सौंदर्यीकरण और नवीनीकरण प्रोजेक्ट की जानकारियों से भी अवगत कराएंगे।

यूपी चुनाव: ब्राह्मण मतदाताओं को लुभाने की कोशिश में बीजेपी, 4 सदस्यीय कमेटी करेगी 403 सीटों का दौरा –
ब्राह्मण समुदाय से चर्चा करने के लिए गठित इस 4 सदस्यीय कमेटी का गठन काफी लंबी बैठक के बाद किया गया है. यह मीटिंग यूपी चुनाव प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान के आवास पर चली. इसमें प्रदेश के कई बड़े ब्राह्मण नेता शामिल हुए. इनमें उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा, मंत्री अनिल शर्मा, जितिन प्रसाद, ब्रजेश पाठक, रीता बहुगुणा जोशी और सुनील भारला मौजूद रहे. दरअसल उत्तर प्रदेश में विपक्ष ने बीजेपी को टारगेट करते हुए योगी सरकार पर एंटी ब्राह्मण होने का आरोप लगाया है।