नौनिहालों की दुर्दशा-प्रधान जी से मस्त

जमानियां। क्षेत्र के मुहम्मदपुर ग्राम पंचायत के गोपालपुर गांव स्थित प्राथमिक विद्यालय तक जाने वाली सड़क अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा है। जिससे विद्‍यालय में पढने वाले छात्र–छात्राओं सहित अभिभावकों को विद्यालय पहुंचने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

क्षेत्र का गोपालपुर गांव स्थित प्राथमिक विद्‍यालय में जाने के लिए एक ही रास्ता है और वह भी बारिस के कारण किचड युक्त हो चुका है। जिसमें से स्कूली बच्चो को मजबूरी में होकर गुजरना पड़ रहा है। देश के भविष्य कहे जाने वाले इन बच्चों में पढने की ललक है लेकिन सरकारी तंत्र इन्हें सहयोग करने के बजाय बाधक बन रहा है। स्कूली बच्चों का कहना है कि विद्‍यालय जाने में कई बार किचड युक्त कच्ची सडक पर गिर कर चोटिल हो जाते है‚ तो कभी सड़क पर मोटर साइकिल या ट्रेक्टर आदि गुजरते समय गंदा पानी‚ किचड के छिटे कपडे पर पड जाने से कपडे गंदे होने से साथ भीग जाते है और पूरा दिन स्कूल में भीगे कपडो के साथ स्कूल में रहने के लिए मजबूर रहना पड़ता है। वही ग्रामीण पूर्व प्रधान पति अनिल यादव‚ राम केश‚ विजय नरायन‚ महेन्द्र‚ शोभ नाथ आदि का कहना है कि इस रास्ते को जल्द से जल्द खडंजा बिछाया जाना चाहिए ताकि बच्चों को परेशानी न हो। जबकि यह सड़क कार्ययोजना में स्वीकृत होने के बाद भी न बनना ग्राम प्रधान की मंशा पर सवाल उठता है। इस संबंध में प्राथमिक विद्‍यालय के प्रभारी प्रधानाध्यापक धर्मराज सिंह ने बताया कि इस बाबत कई बार ग्राम प्रधान सहित उच्चाधिकारी को अवगत कराया गया है लेकिन अब तक कोई कार्यवाही नहीं हुई । जिस कारण से बच्चों के साथ अध्यापकों को भी विद्‍यालय पहुंचने में परेशानी होती है।