पत्नी के वियोग में अशोक ने दे दिया जान

गाजीपुर – खानपुर थाना क्षेत्र के लौलेहरां गांव के रहने वाले 22 वर्षीय अशोक कुमार की आवश्यकता से अधिक दवा की गोलियां खा लेने से रविवार की रात मौत हो गई। गांव के लोग इसके पीछे उसकी पत्नी को उसे छोड़कर अपने मायके चले जाने को ही कारण बता रहे हैं। परिजनों ने पुलिस को सूचना दिये बिना ही रातो-रात शव का अंतिम संस्कार कर दिया।

लालचंद राम के बेटे अशोक की शादी अभी चार माह पूर्व ही चांदनी से हुई थी।अशोक अपने माता- पिता का एकलौता पुत्र था। गांव वालों ने बताया कि उसे प्राय: मिर्गी के दौरे भी आते रहते थे। पति- पत्नी के बीच इसी बात को लेकर अक्सर वाद विवाद होता रहता था। दो माह पूर्व अशोक से झगड़ा कर उसकी पत्नी अपने मायके चली गयी थी। जिससे अशोक और ज्यादा परेशान रहने लगा था। इसके पूर्व अशोक ने इलाज से खुद के ठीक होने की बात कहकर पत्नी चांदनी को मनाने की बहुत कोशिश की, पर जब चांदनी ने वापस आने से साफ मना कर दिया तो अशोक ने रविवार की रात घर में रखे मिर्गी की दवा की गोलियों से भरी पूरी शीशी अपने हलक में उतार लिया। इसके बाद वह अपने कमरे में जाकर सो गया। कुछ ही देर बाद उसकी हालत बिगड़ने लगी। जिससे परिजन घबरा उठे। वह उसे लेकर सैदपुर के निजी चिकित्सालय में आये।जहां उपचार के दौरान अशोक ने दम तोड़ दिया।अशोक की मौत की खबर से गांव में कोहराम मच गया। वहीं दूसरी ओर घर वालों ने पुलिस को सूचना दिये बिना ही रात में ही शव का अंतिम संस्कार कर दिया