प्रकाशनार्थ,निःशुल्क,दिनांक-10/10/2017गाज़ीपुर। अपनी 17 सूत्रीय मांगों को लेकर आंगनबाड़ी कर्मचारी एवं सहायिका एसोसिएशन का धरना मंगलवार को 19वें दिन भी जारी रहा। धरने की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष आशा पटेल व संचालन जिला संरक्षक सूरज प्रताप सिंह ने किया।    धरने को सम्बोधित करते हुए जिलाध्यक्ष श्रीमती आशा पटेल ने बताया कि हम कार्यकर्त्रियों के बारे में प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ अपना रूख साफ नहीं कर रहे है लेकिन प्रदेश इकाई अपने संघर्ष के बूते सरकार पर लगातार दबाव बनाये हुए है। सीएम से प्रदेश इकाई का एक प्रतिनिधिमंडल बीते 7 अक्टूबर 2017 को मुख्यमंत्री से वार्ता के लिए मिला था, जिसमें प्रतिनिधिमंडल को मुख्यमंत्री द्वारा आश्वासन दिया गया कि आपकी वार्ता ए.पी.सी.  (मानदेय वृद्धि के लिए गठित कमेटी) से 12 अक्टूबर को करवायी जायेगी तब निर्णय होगा लेकिन इस बात पर प्रदेश कमेटी ने उनके कमज़ोर रवैये को देखते हुए अपने प्रदेशव्यापी 10 अक्टूबर के धरने के बारे में विस्तार से उन्हें अवगत करा दिया था। जिलाध्यक्ष श्रीमती आशा पटेल ने कहा कि प्रदेशव्यापी धरने की ताकत का अंदाजा लगाकर शासन की नींद उड़ गयी थी और 8 अक्टूबर की रात हमारे प्रदेश इकाई के पदाधिकारियों के पास सीएम कार्यालय से फोन आया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 10 अक्टूबर को एसोसिएशन से वार्ता करने को तैयार है लेकिन प्रदेश व्यापी प्रदर्शन को स्थगित करना होगा इसीलिए लखनऊ के धरने को एसोसिएशन ने स्थगित करने का निर्णय लिया। जिलाध्यक्ष श्रीमती पटेल ने बताया कि 20 दिनों के बेमियादी हड़ताल से सरकार को हमारी ताकत का अंदाजा लग गया गया है यह हमारी जीत की महज शुरूआत है। आज जब प्रदेश इकाई का प्रतिनिधिमंडल जब पुनः लखनऊ में अपनी मांगों को लेकर सीएम से मिलेगा तो हमें पूरी उम्मीद है कि आज आंगनबाड़ी अपने संघर्षो के बल पर इतिहास रचेगी। उन्होंने आगे कहाकि जब तक हमें सीएम द्वारा लिखित आश्वासन नहीं दिया जायेगा तब तक हम जिले पर चलने वाले धरने को समाप्त नहीं करेंगे, सीएम आज हमारी मांगों को पूरा करें हम आज धरने को समाप्त करने को तैयार है। इस दौरान जिला संरक्षक सूरज प्रताप सिंह ने दूसरे संगठन पर भी जमकर बरसते हुए कहा कि कुछ लोगों को अपनी ताकत का अंदाजा नहीं था इसलिए वे हमारे विरोध में कठपुतली के रूप में खड़ी थी जबकि हमारी सभी मांगे जायज है इसलिए आज सीएम ने सकारात्मक रवैया अपनाया है। हम सभी आंगनबाड़ियों से अपील करते है कि वे अपनी ताकत को पहचाने और आंगनबाड़ी कर्मचारी एवं सहायिका एसोसिएशन का साथ दें। इस इवसर पर अंत में जिलाध्यक्ष ने एसोशिएसन की प्रदेश अध्यक्ष गीताजंली मौर्या समेत सभी के प्रति आभार जाते हुए कहा कि इस लड़ाई में हम कहीं से भी पीछे हटने वाले नहीं है लखनऊ में आप अपनी आवाज बुलंद करों हम हर मोर्चे पर साथ रहेंगे। इसी अवसर पर सैकड़ों कार्यकत्री एवं सहायिकाओं के बीच सर्वसम्मति से संजू यादव जी को आंगनबाड़ी कर्मचारी एवं सहायिका एसोशिएसन की नगर अध्यक्ष चुना गया। नव-निर्वाचित नगर अध्यक्ष को जिलाध्यक्ष आशा पटेल एवं वरिष्ठ कार्यकत्री अंजू ने माल्यार्पण कर सम्मानित किया। नगर अध्यक्ष संजू यादव ने कहा कि, जब तक मानदेय वृद्धि नही हो जाती मैं चैन से नही बैठूँगी। संगठन को मजबूत करने तथा आंगनबाड़ी एवं सहायिका बहनों के संघर्ष के लिए हमेशा तैयार रहूँगी।धरनेमेंरीता,रचना,सिंधु,अंजू,शशिबाला,रेखा,सीमा,गीता,सुनीता सहित सैकड़ों कार्यकत्री व सहायिका मौजूद रही।