प्रयागराज-अब हर जिले मे होगी मा० के मुकदमे की सुनवाई

प्रयागराज, [अंकित शुक्ला]। उत्‍तर प्रदेश के 12 जनपदों की एमपी एमएलए की विशेष कोर्ट प्रयागराज में स्थापित है। सुप्रीम कोर्ट के सख्त रुख के बाद माननीयों पर दर्ज मुकदमे की और शीघ्र सुनवाई के लिए मजिस्ट्रेट द्वारा परीक्षणीय अपराध वाले मुकदमे के निस्तारण के लिए प्रत्येक जिलों में कोर्ट गठित करने का काम शुरू हो गया है। इसकी शुरुआत प्रयागराज में हो गई है।

विशेष कोर्ट में पीठासीन अधिकारी एसीजेएम नियुक्‍त

जिला जज नलिन कुमार श्रीवास्तव ने प्रयागराज के पूर्व और वर्तमान जनप्रतिनिधियों के विरुद्ध चल रहे मुकदमों में से मजिस्ट्रेट द्वारा परीक्षणीय अपराध वाले मुकदमों को अलग करके सुनवाई करने के लिए कोर्ट का गठन भी कर दिया है। विशेष कोर्ट में पीठासीन अधिकारी एसीजेएम नवनीत सिंह को नियुक्त किया गया है, जो एक जनवरी से कामकाज शुरू करेंगे।

प्रयागराज में कैबिनेट मंत्री, पूर्व सांसद, पूर्व मंत्रियों, पूर्व विधायकों पर चल रहा केस

प्रयागराज में पूर्व सांसद अतीक अहमद, पूर्व विधायक खालिद अजीम उर्फ अशरफ, कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी, पूर्व विधायक विजमा यादव, पूर्व मंत्री राकेश धर त्रिपाठी के विरुद्ध चल रहे गंभीर धाराओं के मुकदमों में न्यायालय ने आरोप तय किए हैं। इसमें 10 वर्ष से अधिक की सजा का प्रावधान है।

जनप्रतिनिधि जिन पर दर्ज हैं अपराधिक मुकदमे

भदोही- विधायक विजय मिश्रा, विधायक दीनानाथ भास्कर, विधायक रविंद्र त्रिपाठी, पूर्व मंत्री रंगनाथ मिश्रा, पूर्व विधायक डाक्‍टर उदय भान सिंह।

वाराणसी – पूर्व एमएलसी विनीत सिंह, पूर्व विधायक अभय सिंह, पूर्व विधायक अजय राय, राज्य मंत्री नीलकंठ तिवारी, सांसद अतुल राय, मंत्री अनिल राजभर, राज्यमंत्री रविंद्र जयसवाल, पूर्व विधायक श्यामदेव राय चौधरी दादा।

बलिया – नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी, राज्यमंत्री उपेंद्र तिवारी, मंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला, सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त, राम इकबाल सिंह, उमाशंकर सिंह, अंबिका चौधरी, नारद राय, पूर्व विधायक सनातन पांडे।

चंदौली – सुशील सिंह, सपा विधायक प्रभु नारायण यादव, रामकिशन यादव।

आजमगढ़ – अंगद यादव।

मऊ – बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी।

गाजीपुर – बृजेश सिंह, ओमप्रकाश सिंह, राजकुमार गौतम।

जौनपुर – धनंजय सिंह, सपा विधायक लकी यादव, पूर्व मंत्री शैलेंद्र यादव उर्फ ललई यादव, एमएलसी बृजेश सिंह उर्फ प्रिंसू, डाक्टर हरेंद्र सिंह, उमाकांत यादव, रमाकांत यादव, अरुण यादव।

सोनभद्र – राहुल कोल, हरिराम चेरो।

मीरजापुर – राम लली मिश्रा, पूर्व विधायक ललितेश पति त्रिपाठी, पूर्व मंत्री कैलाश चौरसिया।

इन लोगों पर है संगीन धाराओं में मुकदमा

  1. अतीक अहमद – 35 मुकदमा
  2. खालिद अजीम उर्फ अशरफ – 22 मुकदमा
  3. मुख्तार अंसारी – 18 मुकदमा

4.विजय मिश्रा – 16 मुकदमा

5.हरिराम चेरो – 10 मुकदमा

6.अतुल राय आठ – मुकदमा

7.उमाकांत यादव – आठ मुकदमा

8.धनंजय सिंह – पांच मुकदमा।

10 वर्ष उम्र कैद की सजा का प्रावधान
यह सब संगीन धाराओं में विचाराधीन मुकदमे हैं, जिसमें 10 वर्ष उम्र कैद की सजा का प्रावधान है। इन मुकदमों में न्यायालय द्वारा आरोप भी तय किया गया है। लेकिन आरोपितों ने आरोप से इन्कार किया है।