प्रयागराज-बेखौफ अतीक अहमद की जारी है दबंगई

प्रयागराज-अहमदाबाद जेल से फोन करके अपने एक रिश्तेदार से 5 करोड़ रुपए मांगने का अतीक अहमद पर आरोप लगा है। प्रॉपर्टी हड़पने और जानलेवा हमले के मामले में करेली पुलिस ने शुक्रवार को अतीक के बेटे अली के दो साथियों को गिरफ्तार कर लिया। मौके पर एक गाड़ी और पिस्टल बरामद की। पीड़ित ने अतीक अहमद,बेटे अली समेत अन्य के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। पुलिस अब अतीत के बेटे की तलाश में जगह-जगह दबिश दे रही है।

पूर्व सांसद अतीक अहमद का साढू इमरान का परिवार चकिया में रहता है। इमरान के भाई मोहम्मद जीशान ने पुलिस को बताया कि वह प्रॉपर्टी डीलिंग का काम करता है।शुक्रवार को करेली के एनुद्दीनपुर में अपने भाई वह भांजे समेत छह युवकों के साथ पुश्तैनी प्लाट पर मौजूद था। एफआईआर के मुताबिक उसके प्लाट पर अतीक का बेटा अली, असद, कछौली, सैफ,इमरान, गुड्डू ,अमन ,संजय सिंह और 15 अन्य पहुंचे।अली के साथियों ने उसे घेर लिया और कहा कि अब्बा से बात करो, इंकार करने पर उसने पिस्टल सटा दी और कहा कि ले बात कर नहीं तो भेजा उड़ा दूंगा। फोन स्पीकर पर कर दिया और बोला बोल, जीशान के बोलते ही उधर से अतीक ने कहा कि यह प्लाट उनकी पत्नी के नाम कर दो नहीं तो तुम्हारे और तुम्हारे भाई के हाथ पैर तोड़ देंगे या पांच करोड़ रुपए बंगले पर पहुंचा दो, इसके बाद उसकी पिटाई शुरू कर दी।

Also Read:  गाजीपुर- क्रासिंग पर टुटी कपलिंग ठहर गये लोग

जीशान वहां से अपने साथी के साथ भाग कर सीधे करेली थाने पहुंचा। दबंगों ने जेसीबी से उसके प्लाट पर बनी दीवार गिराना शुरू कर दिया। थोड़ी ही देर में दरोगा विजेंद्र यादव समेत पुलिस कर्मियों को आता देख अली अपने साथियों के साथ भाग निकला,लेकिन सैफ और असद पकड़ लिए गए।करेली पुलिस उन्हें पकड़ कर थाने ले आई।इधर जीशान का भाई हमले से जख्मी पड़ा था, उसके भांजे को भी चोटें आई थी। जीशान ने बताया कि उसके भाई के सिर में गंभीर चोटें आई हैं उसे एसआरएन अस्पताल में भर्ती कराया गया है।डीआईजी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी ने बताया कि दो आरोपियों को देसी पिस्टल के साथ पकड़ा गया है अन्य की तलाश चल रही है।

Also Read:  गाजीपुर-कोतवाली की क्रिकेट टीम विजयी

एसओ अनुराग शर्मा ने बताया कि अतीत के बेटे अली की तलाश में दो बार छापेमारी की गई। घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस ने चकिया में छापामारी की थी, रात में भी अतीक की ससुराल चकिया में गए थे बताया जा रहा है कि अतीक के मकान को जब प्रयागराज विकास प्राधिकरण ने उसके आवास को जमींदोज कर दिया तो उसकी पत्नी अपने मायके में शरण ली थी, इसी सूचना पर अतीक की ससुराल में पुलिस ने छापेमारी की।

Also Read:  गाजीपुर-तुंम मुझे खुन दो,मै तुम्हें आजादी दुंगा- बोस की मनी जयंती