बुजुर्गा कांड- कारण जाति बिशेष के शराबी और ताडी की अधिकता

गाजीपुर – सदर कोतवाली क्षेत्र के बुजुर्गा के गौसपुर मामले को लेकर गौसपुर बाज़ार के दुकानदारों ने शनिवार को पुलिस अधीक्षक सोमेन वर्मा से मिलकर अपनी व्यथा बताई। दुकानदारों ने बताया कि हम दुकानदारों में दोनों समुदाय के लोगों की दुकान है। हम दुकानदारों की दुकान पर कुछ शराबी लोगों द्वारा पत्थरबाजी की जाती है, जो गांव के ही रहने वाले हैं, जिससे हम सभी दुकानदारों को विवश होकर दुकानों को बंद करना पड़ता है। इतना ही नहीं उपद्रवियों ने गौसपुर बाजार में पुलिस बल की उपस्थिति में ही पत्थरबाजी करना शुरू कर दिया और जब पुलिस बल ने खदेडना शुरू किया तो उपद्रवी भाग कर आरा मशीन में जाकर छुप गये।आरा मशीन में रखें सारे सामानों को नेस्तोनाबूद कर दिया और वहां खड़े ट्रैक्टर को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। दुकानदारों ने बताया कि गौसपुर में अवैध ताड़ी की दुकानों का भरमार है और तकीपुर में खोली गई अंग्रेजी शराब की दुकान के सामने ढाबे पर प्रतिदिन अराजक तत्वों का जमावड़ा होता है। इन अराजक तत्वों से हम दुकानदार अपने आप को असुरक्षित महसूस करते है। जिसके चलते अपनी दुकानों को हमे बंद करना पड़ता है। पुलिस अधीक्षक के पास आए हुए दुकानदारों में मनोज कुमार जायसवाल, सुधीर जायसवाल, प्रमोद जायसवाल, अशोक जायसवाल, शाहिद फरीदी, जमीर हसन, मुख्तार राइनी, सोनू यादव, गुड्डू गुप्ता, संतोष, अजय गुप्ता, श्याम नारायण गुप्ता, नदीम अहमद ख़ान व इत्तेफाक कुरैशी सहित आदि दुकानदार मौजूद थे।

Also Read:  भाभी को विदा करा कर ले जा रहे युवक की पीटाई