मऊ-पुर्व बहुबली विधायक मुख्तार अंसारी पर आरोप तय

477

मऊ-मऊ सदर विधान सभा के पूर्व बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी का गुरुवार को फर्जी असलहा लाइसेंस मामले एवं दोहरे हत्या मामले में अलग-अलग अदालतों में वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से पेशी कराई गई। इसमें फर्जी असलहा लाइसेंस मामले में मुख्तार समेत सभी आरोपियों पर आरोप तय कर दिया गया। जबकि दोहरे हत्याकांड में 16 नवम्बर को अगली पेशी की तिथि निर्धारित किया गया।

पहले मामले में सिविल जज सीनियर डिवीजन एमपी/एमएलए मजिस्ट्रेट श्वेता चौधरी की अदालत में मुख्तार अंसारी की फर्जी असलहा लाइसेंस मामले में गुरुवार को वीडियो कांफ्रेसिंग से पेशी कराई गई। इस मामले में मुख्तार अंसारी सहित सभी आरोपियों पर फर्जी असलहा लाइसेंस मामले में आरोप तय कर दिया गया। गौरतलब है कि मुख्तार अंसारी ने अपने लेटर पैड पर आधा दर्जन लोगों को शस्त्र लाइसेंस के लिए संस्तुति किया था। बाद में जांच के दौरान सभी के पते फर्जी पाए गए थे। इस मामले की प्राथमिकी दक्षिण टोला थाने में दर्ज कराई गई थी। इस मामले में 16 नवम्बर की तिथि साक्ष्य हेतु अदालत ने नियत किया गया। जबकि दूसरे मामले में अपर सत्र न्यायाधीश फास्ट ट्रैक कोर्ट एमपी/एमएलए की विशेष अदालत के न्यायाधीश दिनेश चौरसिया ने थाना दक्षिण टोला क्षेत्र में राम सिंह मौर्य दोहरे हत्या काण्ड के मामले के आधार पर लगे गैंगस्टर के मुकदमे में मुख्तार अंसारी की वीडियो कांफ्रेसिंग से बांदा जेल से पेशी कराया गया। इस दौरान अदालत ने अगली पेशी की तिथि 16 नवम्बर निर्धारित किया। ज्ञातव्य हो कि दक्षिण टोला थाना क्षेत्र में राम सिंह मौर्य दोहरे हत्या काण्ड को लेकर मुख्तार अंसारी सहित दर्जन भर आरोपियों को गैंगस्टर मामले में निरुद्ध किया गया था। न्यायालय ने इस मामले में अगली तारीख 16 नवम्बर नियत किया

Play Store से हमारा App डाउनलोड करने के लिए नीचे क्लिक करें- Qries