मऊ-मुख्तार अंसारी के शूटर की मौत

मऊ- मुख्तार अंसारी के शार्प शूटर जामवंत कनौजिया उर्फ राजू आयु 50 वर्ष की शुक्रवार को मौत हो गई। वह मऊ के चर्चित मन्ना सिंह हत्याकांड में बिजनौर जेल में सजा काट रहा था। तबीयत खराब होने पर उसे बिजनौर से लखनऊ के पीजीआई में भर्ती कराया गया था, जहां उसने दम तोड़ दिया। रानीपुर थाना क्षेत्र के ग्राम सभा पडरी निवासी जामवंत कनौजिया उर्फ राजू पुत्र कैलाश कनौजिया 21 अक्टूबर 2006 को जिला पंचायत सदस्य कृष्ण पाल सिंह उर्फ गुड्डा की हत्या मुख्तार अंसारी के दाहिने हांथ कहें जाने वाले अनुज कनौजिया के इशारे पर की थी।अनुज कनौजिया इसका दूर का रिश्तेदार है।इसके बाद अपराधिक मामलों में उसका दबदबा बढ़ता ही चला गया। इसका नाम मऊ जिले के चर्चित प्रेम प्रकाश सिंह उर्फ मुन्ना हत्याकांड में आया। 29 अगस्त 2009 को इसने अपने साथियों संग प्रेम प्रकाश सिंह उर्फ मुन्ना को दिनदहाड़े गोलियों से छलनी कर दिया था। कोर्ट में जब इस हत्याकांड में इसे सजा सुनाई गई तो यह कोर्ट में भी भड़क गया था। इस बात की उस समय खूब चर्चा हुई थी। इसके ऊपर मऊ जिले के सरायलखंसी, चिरैयाकोट, रानीपुर, सदर कोतवाली में दर्जनों मुकदमे हत्या, हत्या के प्रयास, लूट,छिनैती के आज भी दर्ज हैं।इसे गुंडा व गैंगस्टर एक्ट में भी निरुद्ध किया गया था। यह क्षेत्र में दहशत बनाकर वर्ष 2010 में अपनी मां को ग्राम पंचायत का चुनाव लड़ा कर ग्राम प्रधान भी बनाया। 2015 में जिला पंचायत सदस्य क्षेत्र रानीपुर से चुनाव लड़ाया जो कुछ ही वोटों से हार गई थी। इसके बाद भी क्षेत्र में इसका दहशत का बरकरार रहा। ग्रामीणों के अनुसार जामवंत कनौजिया उर्फ राजू अपने पांच भाइयों में दूसरे नंबर पर था उसकी पत्नी पहले की ही मर चुकी थी।उसका एक लड़का प्रिंस कनौजिया है जिसकी शादी अभी नवंबर 2021 में हुई है।

Also Read:  गाजीपुर-सम्पर्क मार्ग क्षतिग्रस्त, जनता आक्रोशित