मऊ-हाय रे ! गरीबी ,महिला ने 3 बच्चों सहित खुद ज़हर खाया

मऊ-जनपद के सरायलखंसी थाना क्षेत्र के अंधेरी गांव निवासिनी एक विधवा महिला ने शुक्रवार को आर्थिक तंगी से परेशान होकर अपने 3 बच्चों समेत जहर खा लिया। हालत गंभीर होने पर सभी को उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। उधर सूचना मिलते ही क्षेत्राधिकारी धनंजय मिश्रा भी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए।

क्षेत्राधिकारी ने बताया कि महिला संग उसके तीन बच्चों का उपचार जिला अस्पताल में चल रहा है।फिलहाल मां और एक बच्चे की हालत गंभीर बनी हुई है। चिकित्सकों द्वारा सभी का उपचार किया जा रहा है। मऊ जिले की थाना सराय लखंसी थानाक्षेत्र की अंधेरी गांव निवासिनी 36 वर्ष सरोजा देवी के पति हाफिज की 3 माह पूर्व सड़क दुर्घटना में गाजीपुर जनपद के जंगीपुर थाना क्षेत्र में मौत हो गया था। पति की मौत के बाद से ही वह आर्थिक तंगी के कारण महिला के सामने घर परिवार चलाने का संकट गहरा गया था। पति की मौत के बाद घर का व बच्चों का खर्चा चलाना सरोजा के लिए काफी मुश्किल हो गया था।वह आर्थिक संकट को लेकर काफी दिनों से परेशान चल रही थी। इस बीच शुक्रवार की सुबह सरोजा ने अचानक घर रखे कीटनाशक दवा को अपने 6 वर्षीय पुत्र करिया ,3 वर्षीय पुत्र मोनू व डेढ़ वर्षीय पुत्री नेहा को पानी में कीटनाशक दवा मिलाकर पिला दिया। साथ ही साथ अपने भी उसने कीटनाशक दवा पी लिया। लेकिन ज्यो ही अपने चौथे बच्चे को कीटनाशक दवा पिलाने का प्रयास किया वह मां का हाथ छुड़ाकर भाग गया। कीटनाशक दवा का प्रयोग करने के बाद तीनों की हालत खराब होने पर सरोजा चीखने चिल्लाने लगी।

उसकी चीख चिल्लाहट सुनकर आसपास के लोग एकत्र हो गए। स्थानीय लोगों की मदद से सरोजा समेत तीनों बच्चों को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उधर घटना की सूचना पाते ही क्षेत्राधिकारी धनंजय मिश्रा दल बल के साथ मौके पर पहुंच गए।क्षेत्राधिकारी धनंजय मिश्रा ने बताया कि पति की मौत के बाद महिला काफी परेशान थी। फिलहाल सभी का उपचार जिला अस्पताल में चल रहा है। महिला व एक बच्चे की हालत गंभीर बनी हुई है, चिकित्सक गहनता से सभी का उपचार कर रहे हैं।