लखनऊ-अजीत हत्याकांड, पुर्वी व पश्चिमी उ०प्र०के शूटरों की जुगलबंदी

0
453

लखनऊ- 6 जनवरी वुधवार की रात मुहम्मदाबाद गोहना के जेष्ठ ब्लाक प्रमुख अजीत सिंह की लखनऊ के कठौता चौराहे पर गोली मारकर बदमाशों ने हत्या कर दी थी।अजीत सिंह सगडी के पुर्व विधायक सर्वेश सिंह सिप्पू हत्याकांड के चश्मदीद गवाह थे। इस हत्या के बाद से ही प्रदेश का पूरा पुलिस महकमा दहल गया था। इस हत्याकांड को अंजाम देने वाले शूटरों की गोली से बचे अजीत सिंह के साथी मोहर सिंह के तहरीर पर ध्रुव सिंह उर्फ कुंटू सिंह ,अखंड प्रताप सिंह तथा वाराणसी निवासी गिरधारी विश्वकर्मा को नामजद आरोपी बनाया गया था। कुंटू सिंह व अखंड सिंह दोनों आजमगढ़ जेल में बंद है। बृहस्पतिवार को अखंड को आजमगढ़ जेल से बरेली स्थानांतरित कर दिया गया।पुलिस कमिश्नर नीलाब्जा चौधरी के अनुसार बुधवार को चंदौली के महुअर कला गांव निवासी संदीप सिंह को अंबेडकर नगर के उकरा गांव से दबोचा गया। उसने पूछताछ में जो बताया है उसके अनुसार संदीप, गिरधारी विश्वकर्मा उर्फ डॉक्टर , रवि यादव,शिवेन्द्र सिंह उर्फ अंकुर, राजेश तोमर उर्फ जय,राजेश तोमर उर्फ जय, बंटी उर्फ धीरू उर्फ राजेश उर्फ मुस्तफा ने मिलकर अजीत सिंह पर गोलियां बरसाई थी।जेष्ठ ब्लॉक प्रमुख अजीत सिंह के जवाबी फायर में राजेश तोमर नामक हमलावर घायल हुआ था। पुलिस ने संदीप की निशानदेही पर लखनऊ स्थित अलकनंदा अपार्टमेंट से 9 एमएम की पिस्टल व कारतूस बरामद किया है।पुलिस के अनुसार अलीगढ़ के हरदुआगंज थाना क्षेत्र के भीमनगर निवासी राजेश तोमर का भाई रविंद्र कुमार तोमर बागपत पुलिस की हिरासत में है। उसने पूछताछ में बताया कि उसका भाई राजेश तोमर सुनील राठी गैंग से ताल्लुक रखता है।एक हत्या के मामले में राजेश 6 साल तक तिहाड़ जेल में रहने के बाद झूठा था। इस वक्त नोएडा के एक अस्पताल में अपना इलाज करवा रहा है।दिल्ली पुलिस की गिरफ्त में आए गिरधारी विश्वकर्मा उर्फ डाक्टर ने भी पूछताछ में वारदात के दौरान शिवेन्द्र सिंह,बंधन सिंह रवि यादव का नाम लिया है। पुलिस तीनों की सक्रियता तलाश कर रही है।पुलिस के द्वारा अजीत सिंह हत्याकांड में अब तक की गई तफ्तीश में 14 लोगों के नाम सामने आए हैं। इसमें 2 डॉक्टर, आजमगढ़ जेल में बंद कुंटू सिंह ,अखंड सिंह , 6 अन्य शूटर ,4 मददगार बंधन सिंह, प्रिंस, रेहान व विपुल का नाम शामिल है।पुलिस के तफ्तीश मे यह भी खुलासा हुआ है कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश और पुर्वी उत्तर प्रदेश के शूटरों को एक साथ इकट्ठा करने का काम गिरधारी विश्वकर्मा उर्फ डाक्टर ने किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here