लखनऊ-चंद्रशेखर ‘ रावण’ का अखिलेश पर हमला, हमें अपमानित किया

लखनऊ-भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर रावण ने अखिलेश यादव पर बड़ा हमला बोला है. उन्होंन कहा कि
कल अखिलेश यादव ने हमे बुलाकर अपमानित किया. हमने उन्हें बड़ा भाई माना और सपा से गठबंधन की करने कोशिश की लेकिन नही हो सका.

उन्हें दलित वोट तो चाहिए लेकिन दलित नेता नहीं. उन्होंने कहा कि सपा की ओर से 3 विधानसभा सीट ओर एक एमएलसी सीट का ऑफर था. हम जेल गए हमें सामाजिक न्याय चाहिए विधायक पद नहीं. इससे पहले प्रदेश की राजधानी में आजाद समाज पार्टी के अध्यक्ष चंद्रशेखर रावण की प्रेस कांफ्रेंस को पुलिस ने रोक दिया है. पुलिस का कहना है कि प्रेस कांफ्रेंस के लिए आजाद समाज पार्टी द्वारा अनुमति नहीं ली गई है. इससे पहले खुद चंद्रशेखर ने जानकारी दी थी कि गठबंधन तय हो गया है. इसे लेकर मैं शनिवार सुबह 10 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करूंगा.

Also Read:  गाजीपुर-डा०अम्बेडकर एक महान मानवाधिकार कार्यकर्ता थे-जिलाधिकारी

पत्रकार वार्ता की अनुमति नहीं मिलने के बाद आजाद समाज पार्टी के चंद्रशेखर रावण ने अखिलेश यादव पर हमला बोलते हुए कहा कि वह अपनी मनमानी कर रहे हैं. उन्हें महज दलित वोटों से मतलब है. दलितों के उत्थान से उनका कोई लेना देना नहीं है. बता दें कि यूपी सिटी न्यूज ने एक घंटे पूर्व ही बता दिया था कि अखिलेश यादव और चंद्रशेखर रावण के बीच गठबंधन को लेकर बातचीत नहीं बन सकी है.सीटों के बंटवारे को लेकर दोनों के बीच आम सहमति नहीं बन सकी. चंद्रशेखर रावण आठ से दस सीटों की मांग कर रहे थे लेकिन अखिलेश यादव उन्हें तीन सीटें देने को तैयार थे. इनमें से भी दो सीटों पर प्रत्याशी सपा के चुनाव चिह्न पर लड़ेगा. इसके साथ ही एक एमएलसी देने की बात कही थी लेकिन चंद्रशेखर रावण इसके लिए तैयार नहीं थे. ऐसे में गठबंधन नहीं हो सका है.

Also Read:  सडक दुर्घटना मे ग्राम प्रधान के भाई की मृत्यु

बता दें कि विगत दिनों चर्चा थी चंद्रशेखर रावण ने सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव से गठबंधन को मुलाकात की थी. मीडिया रिपोर्ट्स की मानें, तो सीट बंटवारे को लेकर चंद्रशेखर रावण और अखिलेश यादव के बीच सार्थक बातचीत हुई और दोनों के बीच गठबंधन को लेकर आम सहमति बन गई है. इसको लेकर आजाद समाज पार्टी के चंद्रशेखर रावण ने शनिवार सुबह दस बजे लखनऊ में गठबंधन को लेकर प्रेस कांफ्रेंस करने की जानकारी अपने सोशल मीडिया एकाउंट पर शेयर की थी. निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार, चंद्रशेखर रावण शनिवार को लखनऊ स्थित पार्टी कार्यालय पहुंच गए. इधर, जानकारी मिलने पर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर रावण की प्रस्तावित प्रेस कांफ्रेंस को रोक दिया. पुलिस का कहना है कि प्रेस कांफ्रेंस के लिए इजाजत नहीं ली गई है।

Also Read:  गाजीपुर-जनपद में अराजकता, काफिले पर हमला व तोड़फोड़