वाराणसी-अब वाहन स्वामी 5 हजार जुर्माना का जेब में लेकर चलें

वाराणसी-विनय न मानत जलधि जड़ गये तीन दिन बीत — – – – -भय बिन होत न प्रीति । बहुत पहले रामचरितमानस में इन पक्तियों को गोस्वामी तुलसीदास जी लिखकर स्वर्गवासी हो गये।हमारे देश वासियों की भी यही हालत है।  वाहन चोरी और आपराधिक घटनाओं को रोकने के लिए लागू की गई हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट (एचएसआरपी) की तय समयसीमा बीत जाने के बाद भी वाराणसी में सात लाख से ज्यादा वाहन मालिकों ने हाई सिक्योरिटी नम्बर प्लेट के लिए आवेदन भी नहीं किया है। जबकि 30 हजार से ज्यादा ऐसे भी वाहन हैं, जिनके एचएसआरपी तो जारी हुए, मगर वे वाहनों में अब तक लग ही नहीं पाए। एचएसआरपी लगने की समयसीमा 15 नवंबर तक पूरी होने के बाद भी लोग जागरूक नहीं दिख रहे हैं। जिले में 50 से अधिक वाहन डीलर हैं, जहां एचएसआरपी वाहनों में लगती है। इसके लिए ऑनलाइन आवेदन करना होता है। नये वाहनों के लिए डीलर की ओर से अप्लाई किया जाता है। इसके बाद हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट डीलर के पास पहुंचती है। ऐसे हजारों लोग हैं, जिन्होंने ऑनलाइन बुकिंग के बाद भी डीलर के यहां नंबर प्लेट लगवाने नहीं पहुंचे हैं। यहां बता दें कि ज्यादातर ट्रक और व्यवसायिक वाहनों में गलत नंबर प्लेट लगाकर संचालन की शिकायतें आए दिन सामने आती हैं। हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट को खास तरीके से बनाया गया है। इसमें वाहनों का पंजीकरण नंबर समेत अन्य आवश्यक विवरण दर्ज होते हैं। इसे लगवाने के लिए परिवहन विभाग की वेबसाइट का भी सहारा ले सकते हैं। इसके लिए विभाग की वेबसाइट पर लॉगइन करके अपना रजिस्ट्रेशन कराया जा सकता है। रजिस्ट्रेशन कराते ही गाड़ी मालिक को मोबाइल पर अपने नजदीकी डीलर की पूरी जानकारी मिलेगी, जहां जाकर हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट लगवा सकते है। परिवहन और पुलिसकर्मियों की संयुक्त टीम कभी भी चेकिंग अभियान शुरू कर सकती है ऐसे हालात सभी वाहन चालकों दो पहिया, तीन पहिया या चार पहिया से चलते हो जुर्माना भरने के लिए 5 हजार रूपए पाकेट लेकर चलें।

Also Read:  गाजीपुर-नहीं बदला टीम निशांत का अंदाज