वाराणसी-अभी 2-3 दिन राहत नहीं

वाराणसी. बनारस सहित पुर्वांचल में इन दिनों जिस तरह से गर्मी पड़ रही है उसने लोगों की 26 साल पुरानी यादें ताजा हो आई हैं। हालांकि उन दिनों की याद आते ही कंपकपी सी छूटने लगती है, जब आसमान से बरसते अंगारों के चलते राह चलते लोग अचानक अचेत हो कर गिरते और उनके प्राण-पखेरू उड़ जाते। श्मशान घाटों पर शवदाह के लिए जगह नहीं बची थी। तब तापमान करीब सप्ताह भर तक 46 डिग्री सेल्सियस बना रहा। बीएचयू के वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक प्रो एसएन पांडेय ने बताया कि अभी दो दिन ऐसे ही चलेगा, 15 जून को बारिश के आसार हैं जिससे कुछ राहत होगी।

सप्ताह बीता पर पारा 45 के इर्द-गिर्द- –
एक सप्ताह बीत गया पर तापमान से अब भी आग ही बरस रही है। पारा 44 डिग्री सेल्सियस से नीचे आने का नाम ही नहीं ले रहा। रविवार को अधिकतम तापमान 44.6 डिग्री सेल्सियस रहा। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक ये तापमान सामान्य से 5 डिग्री सेल्सियस ऊपर है। वर्तमान में बनारस सहित पुरा पुर्वांचल पूर्णतया हीट वेव की चपेट में है। मौसम विज्ञान विभाग ने 13 जून तक हीट वेव की भविष्यवाणी की है।

सोमवार की सुबह से ही तीखी धूप से बेहाल नागरिक- –
आलम ये है कि सुबह नौ बजते-बजते ही लू चलने लग रही है और दोपहर आते-आते हाल बुरा हो जा रहा है। सोमवार को तड़के 5 बजे वाराणसी का तापमान 31.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। दिन तो दिन रात में भी कोई राहत नहीं मिल रही है। मौसम विभाग के आंकड़ों के अनुसार आधी रात के बाद भी तापमान 33 डिग्री के ऊपर ही दर्ज किया जा रहा है। इसके चलते लोगों की रात की नींद भी उड़ जा रही है। हवा में नमी 60 फीसद होने के चलते उमस से मानों दम घुटने लग रहा हो।

मौसम विभाग दे रहा जल्द राहत के संकेत- –
वैसे मौसम विभाग अब कुछ राहत के संकेत दे रहा हैं। मौसम विभाग का अनुमान है कि बनारस में 15 जून से मौसम में तब्दीली आ सकती है। हल्की बारिश हो सकती है। इसके तहत 15-16 जून को हल्की तो 17-18 जून को गरज-चमक संग बरसात होने की संभावना बन रही है। लेकिन अभी तो हालत गंभीर है।