वाराणसी-आइए बनारस के नये पुलिस कमिश्नर मुथा अशोक जैन के बारे में जाने

380

वाराणसी-1995 बैच के यूपी कैडर के आईपीएस मुथा अशोक जैन की गिनती प्रदेश में सादा जीवन तीक्ष्ण दिमाग वाले पुलिस अधिकारियों में होती है। पुलिस अधिकारी के रूप मे लंबे समय तक कानपुर और झांसी आदि जिलों में कार्य चुके जैन मीडिया की चकाचौंध से ज्यादातर दूर ही रहते हैं। मुथा अशोक जैन काफी समय तक नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो में अपनी सेवाएं दे चुके हैं। फिल्म स्टार सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद रिया चक्रवर्ती पर लगे ड्रग्स लेने के आरोपों की जांच के मामले में मुथा अशोक जैन मुख्य भूमिका में रहे, उस वक्त वे एनसीबी में डिप्टी डायरेक्टर जनरल के पोस्ट पर तैनात थे। इसके अलावा शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान पर लगे ड्रग्स लेने के आरोपों के दौरान भी मुंबई में एनसीबी की कमान मुथा अशोक जैन के हाथों में ही रही। 1966 में गुंटुर आंध्र प्रदेश में जन्मे 56 वर्षीय आईपीएस अधिकारी मुथा अशोक जैन 1995 में सिविल सेवा परीक्षा पास करने के बाद इंडियन पुलिस सर्विस में अधिकारी के पद पर तैनात हुए। इन्हें यूपी काडर अलाट हुआ। बैंकिंग ,अकाउंट और सांख्यिकी विषय से बीकॉम मुथा अशोक जैन ने मार्केटिंग और फाइनेंस में भी उच्च शिक्षा हासिल किया है।इसी साल नवंबर महीने में मुथा अशोक जैन केंद्रीय प्रतिनियुक्ति से वापस यूपी लौटे हैं। वापसी होने के बाद उन्हें डीजीपी मुख्यालय से अटैच करते हुए प्रतीक्षा सूची में रखा गया था। हालांकि प्रतिनियुक्ति से लौटने के बाद मुथा अशोक जैन के अनुभव को देखते हुए योगी सरकार ने वाराणसी जैसे महत्वपूर्ण कमिश्नरी का पुलिस कमिश्नर की जिम्मेदारी दी गई है। स्वभाव से बेहद मृदुभाषी मुथा अशोक जैन एक लेखक भी है उनके लेख देश के प्रतिष्ठित पत्रिकाओं और अखबारों में प्रकाशित होते हैं। मुथा अशोक जैन इंडियन एक्सप्रेस जैसे प्रतिष्ठित मीडिया समूहों के लिए नियमित लेखन करते हैं।

Play Store से हमारा App डाउनलोड करने के लिए नीचे क्लिक करें- Qries