संगठीत लूट का माध्यम बना हौसला पोषण मिसन 

0
903

गाजीपुर – उत्तर प्रदेश मे लगभग एक लाख अस्सी हजार आंगनवाडी केन्द्र संचालित है। उत्तर प्रदेश की अखिलेश यादव सरकार ने कुपोषित गर्भवती महिलाओं व कुपोषित ०6 माह से ०6 वर्ष तक के बच्चों के कुपोषण को दुर करने के लिए हौसला पोषण मिसन नाम की योजना का शुभारम्भ किया । इस योजना के तहत 10 लाख कुपोषित गर्भवती महिलाओं को सप्ताह मे 6 दिन गर्म पका-पकाया भोजन उप्लबध कराना है। इसी प्रकार से कुपोषित 06 माह से लेकर 06 वर्ष के बच्चों गर्म पका -पकाया भोजन,देशी धी, दुध और फल उपलब्ध करना है। इस योजना के तहत शासन से जो धन उपलब्ध करान है उसका संयुक्त खाता आंगनवाडी कार्यकरति और ग्राम के नाम से बैंक मे खुला है। दवंग ग्राम प्रधान आंगनबाडी कार्यकरती से चेक पर जबरदस्ती हस्ताक्षर करा कर धन हडप ले रहे है। कई आंगनबाडी कार्यकरतीयो ने नाम न लिखने की शर्त पर बताया कि ” सीडीपीयो ने  कार्यकरतियों से खुलम खुल्ला कहा कि अब हौसला पोषण के पैसे का बटवारा चार भाग मे होगा 1- सीडीपीयो का 2- ग्रामप्रधान का 3- कार्यकरती का 4-शेष बच्चो पर खर्च होगा। सच्चाई क्या है आप अपने आस-पास के आंगनबाडी केन्द्र पर जा कर खुद देख सकते है। आंगनबाडी कार्यकरतीयों से जब डी०एम० , एस०डी०एम० से इस की लिखित सिकायत करने को कहा गया तो कहती है है ” सीडीपीयो नौकरी खा जयेगी ” ।

Leave a Reply