किसानों की कर्ज माँफी ने , संबिदा कर्मियों के मानदेय बृद्धी की आशा पर पानी फेरा

0
573

लखनऊ- विधान सभा चूनाव मे भाजपा के नेताओं ने संबिदा कर्मियों जैसे आंगनबाडी,आशा बहु,शिक्षा प्रेरक, रोजगार सेवकों से वादा किया था कि उत्तर प्रदेश मे यदि भाजपा की सरकार बनेगी तो न्यूनतम मानदेय 10000/ सभी संविदा कर्मियों का होगा।  उत्तर प्रदेश की आंगनबाडी कार्यकरतीयों को उत्तर प्रदेश सरकार और बिशेष कर सी.एम. आदित्य नाथ योगी से थी।  आंगनबाडी कर्मचारी एवं सहायिका एसोसिएशन की उत्तर प्रदेश अध्यक्ष गीतांजली मौर्या भी गोरखपुर की ही रहने वाली है। गीतांजली मौर्या एवं उनके संगठन से योगी जी ने आंगनबाडी कार्यकरतीयों की समस्याओं के समाधान एवं सम्मान जनक मानदेय बृद्धि हेतू 120 दिन का समय लिया था। दिनांक 17 जूलाई 2017 को गीतांजली मौर्या के नेतृत्व मे  आंगनबाडी कार्यकरतीयों का एक प्रतिनिधी मंडल सी.एम. योगी आदित्य नाथ मिला और मानदेय बृद्धि के वादे को याद दिलाया।  प्रतिनीधि मंण्डल से  सी.एम. ने कहा कि आप लोग कुछ दिन थोडा धैर्य रख्खे,  रू०36000 हजार करोण किसान कर्ज माँफी के कारण प्रदेश सरकार  पर अतिरिक्त  बोझ पड गया है लेकिन मुझे आप से किया गया वादा याद है , मै उसे अवश्य पुर्ण करूगाँ।

Leave a Reply