निठारी कांड के नर पिसाचों को छठवें मामले में भी फाँसी

0
257

 वर्ष 2006 की सब से दुर्रांन्त और दिल दहला देने वाली घटना है निठारी कांड । यह घटना जब प्रकाश मे आई तो देश -विदेश तक के लोग दहल गये। 05 अक्टुवर 2006 को एक युवती अपने कार्यालय से घर वापस आ रही थी। वह युवती निठारी स्थित मोनिंदर सिह पंढेर के घर साम्हने से जब गुजर रही थी तो मोनिंदर सिह पंढेर के नौकर सुरेन्द्र कोली ने महिला की गला काट कर घर के पीछवाडे फेक दिया। युवती के घर नही पहुचने पर परिजनों ने गुमसुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराया। पुलिस ने जब सक्रियता से खोज बीन किया तो मामले मे मोनिंदर सिह पंढेर और उसके नौकर सुरेन्द्र कोली का नाम प्रकाश मे आया। पुलिस ने जब सख्ती दिखाया तो अपराधीयों ने कुल 19 महिलाओं के हत्या की बात स्वीकार किया। 19 मे से 16 महिलाओं के कंकालो की सिनाख्त हुई और 3 कंकालों की सिनाख्त नही हो पाई। अब तक सी.बी.आई.की बिशेष कोर्ट ने छै: मामलों मे अभियुक्तों को फाँसी की सजा सुना चूकी है। अभी 10 मामलों मे फैसला आना बाकी है। अपहरण,बलात्कार और फिर हत्या के ऐसे मामलों सामिल नर पिसाचों की मौत जितनी जल्द हो , उतना ही अच्छा है।

Leave a Reply