यशवन्त सिह हत्याकांड – पुलिस के खुलासे मे झोल ही झोल

0
1264

गाजीपुर – 22 अगस्त को सोहिलापुर के पास रेलवे ट्रैक के किनारे मिले प्रापर्टी डिलर यशवन्त सिह के लास की हत्या का खुलासा पुलिस ने कर दिया। पुलिस के अनुसार यशवन्त सिंह की हत्या उस के दोस्त सोहिलापुर निवासी सत्येन्द्र कुमार यादव उर्फ बबुआ ने किया। सत्येन्द्र के अनुसार वह यशवन्त के बुलाने पर वह बसपा कार्यालय के पास स्थित यशवन्त के प्लाट पर पहुंचा ,वहां यशवन्त अपने तीन दोस्तों के साथ बैठ कर दारु पी रहा था। कुछ देर बाद यशवन्त के तीनो दोस्त चले गये। इस बाद बबुआ और यशवन्त दारु की बोतल, पानी की बोतल और ग्लास ले कर भुतहियाताड़ स्थित एक पगडंडी पर बैठ कर दारू पीने लगे , अत्यधिक नशे की हालत मे होने पर यशवन्त ने बबुआ को किसी बात पर गाली देने लगा , और इस से क्रोधित बबुआ ने यशवन्त के सर पर डंडे से प्रहार कर के उसकी हत्या कर दिया। सब से बडा सवाल यह है कि वह  पगडंडी कहाँ है ?क्या वहाँ ब्लड गिरा था ? पगडंडी से लास झाडीयों तक कैसे पंहुचा? यशवन्त के फटे सर को प्लास्टीक की बोरियों से बांधने का क्या मतलब था ?  जब यशवंन्त के सर पर बबुआ प्रहार कर रहा था वह अवश्य चीखा चिल्लाया होगा?  आस-पास के लोगो ने उस की चीख चील्लाहट को क्यो नही सुना ? प्रश्न अनेक है और जबाब सिर्फ पुलिस के पास है।

Leave a Reply