बहन का हत्यारा भाई,शव आंगन में दफनाया

0
443

कानपुर – ओमपुरवा चकेरी निवासी जगदंबा के घर से 11 जुलाई को साथी प्रॉपर्टी डीलर रणविजय राजपूत का शव बरामद हुआ था। हत्याकांड की जांच में चकेरी पुलिस ने मुख्य हत्यारोपी जगदंबा को गिरफ्तार किया तो एक और हत्याकांड का खुलासा हुआ। जगदंबा ने पूछताद में बताया कि वर्ष 2011 में बहन आशा उर्फ डॉली (23) का मोहल्ले के युवक संतोष बाल्मीकी से प्रेम संबंध होना इतना नागवार गुजरा कि एक दिन उसकी घर में ही गला घोंटकर हत्या कर दी। इसके बाद रातो-रात आंगन में खुदाई करके शव को दफन कर दिया। इस बात की पुष्टि हत्यारोपी की पत्नी और मां ने भी की थी। चकेरी पुलिस ने मामले में बुधवार को आंगन की खुदाई शुरू कराई थी। गुरुवार देर शाम साढ़े बारह फीट नीचे खुदाई में कंगन, कपड़ा, नॉयलॉन का मोजा समेत अन्य शव का अवशेष बरामद किया है। इस दौरान दोबारा फिर हत्यारोपी जगदंबा को घर लाया गया और उसे गड्ढे में उतारा भी गया। मौके पर पहुंची फोरेंसिक टीम ने शव के अवशेष की जांच करने के बाद उसे कब्जे में लिया है। चकेरी इंस्पेक्टर अजय सेठ ने बताया कि खुदाई के दौरान बरामद कंगन, कपड़ा समेत शव के अवशेष को जांच के लिए विधि विज्ञान प्रयोगशाला लखनऊ भेजा जाएगा। इसके साथ ही हत्यारोपी पर बहन की हत्या का एक और एफआईआर चकेरी थाने में दर्ज होगी।

Leave a Reply