संस्कृति हत्याकांड-दो गिरफ्तार और दो अभी फरार

0
357

लखनऊ- वलियां निवासी पालीटेक्निक छात्रा संस्कृति राय के हत्या में शामिल राकेश कुमार प्रजापति ने ही उसके सिर पर हमला किया था। यह बात उसने शनिवार को ठाकुरगंज पुलिस के हत्थे चढ़ने पर कुबूली भी। ठाकुरगंज पुलिस उसे एक महीना पहले युवती से मोबाइल व रुपये लूटने के मामले में ढूंढ रही थी। संस्कृति हत्याकाण्ड में भी जब उसका नाम सामने आया तो उसकी तलाश और तेज हो गई थी। गाजीपुर पुलिस अब उसे रिमांड पर लेगी।

संस्कृति की हत्या उस समय कर दी गई थी जब वह 21 जून को उस समय की गई थी जब वह अपने संस्थान से बादशाहनगर जाने के लिये निकली थी। पालीटेक्निक चौराहे पर जब उसने बादशाह नगर रेलवे स्टेशन के लिये टेम्पो पकड़ा तो ड्राइवर लूट के इरादे से उसे जबरन आईआईएम रोड ले गया था। इस ड्राइवर राजेश रैदास को गिरफ्तार कर इस कांड का खुलासा हुआ था। तभी राजेश ने बताया कि था कि उसके साथ सलमान, संतोष और सीतापुर, महमूदाबाद निवासी राकेश कुमार प्रजापति शामिल थे। राकेश भी ऑटो चलाता था। अब दो आरोपी सलमान व संतोष फरार रह गये हैं।

ठाकुरगंज में युवती से मोबाइल लूटा था
राकेश का नाम सामने आते ही पता चला कि उसे ठाकुरगंज पुलिस भी लूट के मामले में ढूंढ़ रही थी। रिमाण्ड पर राजेश ने भी पुलिस को कुछ और जानकारियां दी थी। इंस्पेक्टर गाजीपुर सुजीत राय ने राजेश से फरार आरोपियों के बारे में काफी पूछताछ की थी। इस बीच ही ठाकुरगंज पुलिस को पता चला कि राकेश बिहार में एक नेता के यहां काम कर रहा है। ठाकुरगंज पुलिस की एक टीम वहां पहुंच गई थी। हालांकि उसकी गिरफ्तारी का दावा कुड़िया घाट से किया जा रहा है।

संस्कृति के सिर पर हमला किया था
ठाकुरगंज इंस्पेक्टर दीपक दुबे ने बताया कि राकेश ने संस्कृति की हत्या में शामिल होना कुबूल किया है। उसने बताया कि आईआईएम रोड पर जब संस्कृति ने लूट का विरोध किया था तो उसने ही सिर पर हमला कर उसका सिर पुलिया की रेलिंग से भी टकराया था। फिर उसे नीचे ढकेल दिया गया था। पुलिस ने बताया कि राजेश रैदास से उसका पुराना सम्बन्ध है। राजेश सीतापुर के रामपुर कलां थाने का हिस्ट्रीशीटर है।

संस्कृति ने किया था संघर्ष
राकेश ने भी यह कुबूला कि संस्कृति ने जब लूट का विरोध किया तो वह लोग उस पर हमला कर ने लगे थे। पर, वह भी मुकाबला करती रही थी। संघर्ष के बीच ही उसने शोर मचा दिया था। पकड़े जाने के डर से ही उन लोगों ने उसका मुंह दबाते हुये उसका सिर रेलिंग पर पटक दिया था। फिर रॉड से प्रहार कर दिया था।

Leave a Reply