बजरंगी के बाद संजीव माहेश्वरी उर्फ जीवा की जान को खतरा

0
1069

कई राज्यों में आतंक का पर्याय माने जाने वाले कुख्यात संजीव माहेश्वरी उर्फ जीवा की जान को खतरा है। मैनपुरी जेल में उसकी सुरक्षा पूरी तरह से नहीं हो पा रही। प्रदेश की 10 संवेदनशील जेलों में शामिल मैनपुरी जेल में सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम न होने से जीवा की जान को खतरा पैदा हो गया है। प्रशासन ने जेल की सुरक्षा बढ़ाए जाने के लिए शासन को पत्र लिखा है।

पूर्वांचल के कुख्यात माफिया मुन्ना बजरंगी की बागपत जेल में हुई हत्या के बाद मुन्ना के साथी रहे जीवा की सुरक्षा का संकट खड़ा हो गया है। जीवा 2015 से मैनपुरी जेल में है। फिलहाल जीवा सीबीआई कोर्ट दिल्ली पेशी पर भेज गया है। भाजपा विधायक कृष्णानंद राय की हत्या के मामले ने उसके खिलाफ सुनवाई चल रही है।

मैनपुरी जेल में हाई सिक्योरिटी बैरक नहीं-
जेल के अंदर की सुरक्षा का सवाल है तो मैनपुरी जेल में जीवा जैसे अपराधियों को सुरक्षित रखे जाने के लिए सुरक्षा के कोई उपाय नहीं है। मैनपुरी जेल में हाई सिक्योरिटी बैरक नहीं हैं और नहीं तनहाई बैरक का इंतजाम है। हालांकि जीवा को जेल में अलग बैरक दी गई है। इस बैरक की सीसीटीवी कैमरे से 24 घंटे निगरानी की जा रही है। जेल के अंदर पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई शातिर अपराधी बंद हैं। मैनपुरी के पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष की हत्या करने वाले वेस्ट यूपी के शूटर अभी इसी कारागार में बन्द है।

Leave a Reply