आखिर उसनें आत्महत्या क्यो किया ?

0
466

गाजीपुर- थाना बरेसर के नसीराबाद गांव में बुद्धवार की दोपहर में रामनवमी राजभर आयु 14 वर्ष पुत्र द्धारिका राजभर ने गांव के बगल में बंसवारी में जाकर रस्सी का फन्दा गर्दन में डाल कर फांसी लगा कर आत्म हत्या कर लिया। जब गांव के बकरी चराने वाले बच्चे बंसवारी के पास गये तो देखा की गांव का ही युवक बंसवारी में रस्सी के सहारे लटका है तो शोर मचाये।बच्चों काहशोर सुन कर ग्रामीण भारी संख्या में इक्टठा हो गये ।बगैर पुलिस को सूचना दिये ग्रमीणों ने शव को नीचे उतारा और देखा उसके प्राण पखेरू उड चुके थे। इसी साल रामनवमी ने आठवी कक्षा अपने ही गांव के पूर्व माध्यमिक विद्यालय से पास किया था और नौवीं कक्षा में दाखिला नही लिया था। प्राप्त सूचना के अनुसार रामनवमी के माता – पिता खेत पर धान की बेहन उखाड रहे थे , रोपाई करने के लिये रामनवमी भी वही था उसकी मां ने कहा की घर से बरही लेकर आओ खेत का पलेवा करना है और लडका बाराचंवर चट्टी पर जाने के लिये कह रहा था, मां ने कहा पहले बरही लेकर आओ इसके बाद बाराचवर जाना । मां के कहे अनुसार रामनवमी घर आया और बरही खेत पर न ले जाकर बंसवारी में जाकर उसी बरही का फन्दा बनाकर बंसवारी के सहारे झूल कर आत्म हत्या कर लिया। लोगो ने इसकी सूचना मृतक के मां बाप को खेत पर दिया। मां बाप भी रोते बिलखते घंटना स्थल पर पहुंचे और छाती पिटकर दोनो रोने लगे। किसी ने इसकी सूचना 100 नम्ब र पुलिस को दे दिया। सूचना मिलते ही पुलिस और बरेसर एसओ रामबिराज सिंह घटना स्थल पर पहुंचकर मौका मुआयना किया तथा मृतक के माता- पिता तथा गांव वालो से पूछताछ किया। पहले तो गांव वालो ने लडके के बारे में एसओ को बताया की लडका मानसिक रोगी था लिहाजा शव को पंचनामा कर परिवारिजनों को सौप दिया जाय। दाह संस्कार करने के लिये तब एसओ ने शव का बाहरी परीक्षण किया तो गर्दन में निशान देखा तो शव का पंचनामा कर शांम होने के कारण थाने लेकर चले गये। आज उसकी लाश को पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय भेजा दिया गया।

Leave a Reply