महिला सफाई कर्मी और आंगनबाडी की सेवा समाप्ति का निर्देश

0
439

गाजीपुर- आज 30 जुलाई को मुख्य विकास अधिकारी हरिकेश चैरसिया ने गोद लिए गाव बयेपुर देवकली का स्थलीय निरीक्षण किया। सदर ब्लॉक क्षेत्र के गाव देवकली में कार्यरत आगंनवाड़ी कार्यकत्री/सहायिका /बाल विकास परियोजना अधिकारी/ प्रधानाचार्य एवं टीचर मौके पर उपस्थित थे। मुख्य विकास अधिकारी ने सर्वप्रथम गोद लिए गाव के बच्चो का हाल जाना और रजिस्टर चेक किया, जिसमें बच्चो की संख्या 50 थी। गर्भवती महिलाओ, अतिकुपोषित बच्चो का रजिस्टर चेक किया जिसमें शून्य से 3 माह के बच्चो की संख्या 38 थी और 03 से 06 माह के बच्चो की संख्या 45 थी , जिसमें लाल श्रेणी के 2 बच्चे जिनका नाम दिपीका, रोही है, और पीले श्रेणी के 2 बच्चे जिनका नाम अर्चना व रीना का नाम दर्ज था। जिस पर मुख्य विकास अधिकारी ने तत्काल सीडीपीओ और आंगनवाड़ी कार्यकत्री को निर्देश दिया कि उसे जिला अस्पताल लाकर भर्ती किया जाय। उन्होने जिला कार्यक्रम अधिकारी को वजन तालिका(ग्रोथ चार्ट) सभी केन्द्रो पर रखने हेतु 4 हजार तालिका छपवाने का निर्देश दिया। बच्चो के साथ- साथ रजिस्टर में सबसे पहले माँ का नाम दर्ज किया जाये। माता -पिता का भी नाम अवश्य अंकित किया जाय। उन्होने मिनी आंगनवाडी कार्यकत्री शैलकुमारी पाण्डेय को कार्यो में रूची न लेने, बच्चो की तालिका को देखकर रजिस्टर में अंकित न करने व गाव में जाकर चेक न करने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए सेवा से निकालने का नोटिस जारी करने का निर्देश दिया। उन्होने निर्देश दिया कि गाव में जाकर बच्चो के वजन व वर्ष जरूर अंकित किया जाय। सुपरवाईजर को प्रतिकुल प्रविष्टी एवं सीडीपीओ को रजिस्टर चेक न करने व कार्यो में रूचि न रखने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए चेतावनी दिया। उन्होने निर्देश दिया कि 15 अगस्त, 2018 से पहले लाल श्रेणी एवं पीला श्रेणी के बच्चो को कुपोषण से मुक्त कर दिया जाय। डिजीटल पंजिका लागू करने हेतु अभिलेख अधूरा पाये जाने पर उसे पूरा कराने हेतु 80 गाव गोद लिये गये है वहा के सीडीपीओ/आंगनवाड़ियो को सहजानन्द महाविद्यालय में 05 अगस्त, 2018 को बैठक कराने का निर्देश दिया।
मुख्य विकास अधिकारी ने स्वच्छ शौचालय के बारे में ब्लाक समन्वयक से पूछा गया कि शौचालय अपूर्ण तो नही है जिसपर उन्होने ने बताया कि टोटल 167 शौचालय बनने है जिसमे 156 शौचालय पूर्ण हो चुके है 11 अभी बाकी है जिसपर मुख्य विकास अधिकारी ने तत्काल प्रधान को निर्देश दिया कि आज ही पैसा लेकर 15 अगस्त, 2018 तक खुले में शौच मुक्त (ओडीएफ)करने का निर्देश दिया। उन्होने प्राथमिक विद्यालय पर जाने वाले रास्ते की खराब स्थिति पर नाराजगी व्यक्त करते हुए खण्ड विकास अधिकारी को निर्देशित किया कि 15 अगस्त, 2018 तक रास्ते में मिट्टी डलवाने व खण्डजा बिछाने का निर्देश दिया। साफ सफाई को देखते हुए गाव व विद्यालय में लगे सफाई कर्मी के बारे में पूछा गया जिसपर बताया गया कि दो महिला व दो पुरूष की ड्यूटी लगी है जो ग्रामीणो द्वारा बताया गया कि पुरूष सफाई कमी आते है , महिला सफाई कर्मी की उपस्थिती नही होती है । जिसपर मुख्य विकास अधिकारी ने तत्काल महिला सफाईकर्मी सुमित्रा देवी व केशरी बिन्द का वेतन रोकने व लापरवाही पाये जाने पर जिला पंचायत राज अधिकारी को सेवा समाप्ति का नोटिस जारी करने का निर्देश दिया।

Leave a Reply