गाजीपुर-स्कार्पियो लूटेरे गैंग का पर्दाफाश

777

गाजीपुर-जनपद की नोनहरा थाना पुलिस और सर्विलांस सेल ने संयुक्त रूप से स्कार्पियो लूटेरे टीम के पाँच सदस्यों को गिरफ्तार करने मे कामयाब हुई है इस बात का खुलासा करते हुए पुलिस अधीक्षक ने प्रेस वार्ता मे बताया कि –शेष खबर विज्ञान बाद पढें

गिरफ्तार अभियुक्तों में विशाल कुमार नटराज पुत्र राजाराम निवासी शिवदासपुर (माँ चन्द्रिका मन्दिर) थाना मडुआडीह वाराणसी, शुभम सिंह साव पुत्र संजीत प्रसाद निवासी पाण्डेयपुर पट्टी थाना मुफस्सिल जिला बक्सर (बिहार),विक्कू कुमार यादव पुत्र कन्हैया यादव निवासी चक्की थाना ब्रह्मपुर जिला बक्सर(बिहार),अरविन्द कुमार सिंह उर्फ राणा पुत्र राधेश्याम सिंह निवासी नारायणपुर थाना अदलहाट जिला मिर्जापुर और अनूप कुमार वर्मा पुत्र शीतल प्रसाद वर्मा निवासी केयर एण्ड कैरियर बिन्द बस्ती शिवदासपुर थाना मड़ुआडीह जनपद वाराणसी रहे।
बताते चलें कि गत 21 अगस्त को रात्रि करीब 21.30 बजे नोनहरा थाना क्षेत्र के तलिया मोड़ से स्कार्पियो वाहन नं यूपी 65 एएच1111 की लूट हुई थी। लूट के सम्बन्ध में नोनहरा थाने पर मुकदमा पंजीकृत कराया गया था। लूट की घटना का पर्दाफाश करने और लूटेरों की गिरफ्तारी के लिए थानाध्यक्ष शैलेन्द्र प्रताप सिंह, चौकी प्रभारी अटवा मोड़ उपनिरीक्षक अभिषेक सिंह और जिले की सर्विलांस टीम के नेतृत्व में अलग-अलग टीम गठित की गयी।
पुलिस टीम ने सर्विलांस की मदद से एक मोबाइल नं. 9161287617 को ट्रैस किया। यह सिम दीनदयाल केसरी पुत्र बच्चालाल केसरी निवासी नारायणपुर थाना अदलहाट जिला मिर्जापुर के द्वारा किसी अन्य व्यक्ति के आई.डी. से एक्टीवेट किया गया था एवं बबलू पटेल उर्फ राहुल पुत्र ओमप्रकाश निवासी जमालपुर नरायनपुर थाना अदलहाट जिला मिर्जापुर के द्वारा अरविन्द कुमार सिंह उर्फ राणा पुत्र राधेश्याम सिंह निवासी नारायणपुर थाना अदलहाट जिला मिर्जापुर को बेचा गया था। इस सिम को अरविन्द द्वारा विशाल कुमार नटराज पुत्र राजाराम निवासी शिवदासपुर (माँ चन्द्रिका मन्दिर) थाना मंडुआडीह वाराणसी को दिया गया था। विशाल द्वारा गत 21 अगस्त को स्कार्पियो नं. यूपी 65 एएच 1111 को बुक किया गया। वाहन बुक कर विशाल और अरविन्द वाराणसी से गाजीपुर के लिए निकले। वाहन जब नोनहरा थाना क्षेत्र के तलिया पर पहुंचा तो विशाल द्वारा पेशाब करने के बहाने गाड़ी रुकवाया गया।
वहीं विशाल ने इन्द्रजीत सिंह पुत्र नन्दलाल निवासी महेशपुर मण्डुआडीह को धक्का देकर गाड़ी से बाहर कर दिया और वाहन लेकर भाग निकले। भागते हुए उसने मुहम्मदबाद में एक बुलेट में टक्कर मारने के बाद बलिया जिले के नरहीं होते हुए बक्सर (बिहार) जा पहुंचे। वहां उन्होंने वाहन को ले जाकर शुभम सिंह साव पुत्र संजीत प्रसाद निवासी पाण्डेयपुर पट्टी थाना मुफस्सिल जिला बक्सर (बिहार) के राइस मिल में छिपा दिया। पूर्व योजना के तहद वहां विक्कू कुमार यादव पुत्र कन्हैया यादव निवासी चक्की थाना बलरामपुर जिला बक्सर (बिहार) एवं अनूप कुमार वर्मा पुत्र शीतल प्रसाद वर्मा निवासी केयर एण्ड कैरियर बिन्द बस्ती शिवदासपुर थाना मड़ुआडीह जनपद वाराणसी मौजूद थे। सभी लोग उसी राइसमिल पर रुके थे।
कल वुधवार को उक्त पांचों अभियुक्त उसी स्कार्पियो को बेचने के लिए बिहार से मुहम्मदाबाद, कासिमाबाद होते हुए मऊ की ओर जा रहे थे। कादीपुर पेट्रोल पम्प के आगे मन्दिर के पास पुलिस टीम एवं सर्विलास टीम ने संयुक्त प्रयास से कल शाम 19.10 बजे अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया। गिरफ्तारी के बाद अभियुक्तों के जामा तलाशी में एक देशी पिस्टल 32 बोर, दो जिन्दा कारतूस 32 बोर, एक देशी तमंचा 315 बोर व दो
कारतूस 315 बोर, 07 मोबाइल बरामद हुआ। गिरफ्तार विक्कू कुमार यादव पर तीन, विशाल कुमार नटराज व अरविन्द कुमार सिंह उर्फ राणा पर दो-दो, सुभम सिंह साव तथा अनुप कुमार वर्मा पर एक-एक मुकदमा दर्ज है। अभियुक्तों के विरुद्ध आवश्यक कार्यवाही करते हुए पुलिस ने उन्हें जेल भेंज दिया।
अभियुक्तों को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में
नोनहरा थाने के थानाध्यक्ष शैलेन्द्र प्रताप सिंह व आरक्षीगण मनोज वर्मा, दिनेश सिंह, श्यामबाबू सरोज और सुनील कुमार यादव, अटवा मोड़ चौकी के प्रभारी उपनिरीक्षक अभिषेक सिंह व आरक्षीगण अभिषेक शुक्ल,विकास सिंह, विनोद यादव, पंकज भारती, मनीष तिवारी व रोहित सिंह, सविलास प्रभारी उपनिरीक्षक विनोद राय,एचसीपी संजय पटेल, मुख्य आरक्षी राम भजन,आरक्षीगण राणाप्रताप सिंह, विनय यादव, संजय प्रसाद, आशुतोष सिंह व रोहित चौहान शा

Play Store से हमारा App डाउनलोड करने के लिए नीचे क्लिक करें- Qries