गाजीपुर-क्या भूल गया देश? प्रथम स्वतंत्रता संग्रम सेनानी के जयंती को

0
354

गाजीपुर-देश के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम के प्रथम शहीद मंगल पांडे की जयंती पर मैने कहीं कोई कार्यक्रम होते नहीं देखा और न ही सुना।आज सिर्फ चारो तरफ राष्ट्र पिता महात्मा गांधी के पुण्यतिथि/शहादत दिवस की देश-प्रदेश मे धुम रही लेकिन भारत के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम के प्रथम स्वतंत्रता सेनानी मंगल पान्डेय की जयंती की कहीं से कोई खबर/कार्यक्रम की जानकारी नहीं आयी। अमर शहीद मंगल पांडे आज की पीढ़ी के लिए प्रेरणा स्रोत है, उस समय जब अंग्रेजों के राज्य में सूर्य नहीं डूबता था तब बलिया के इस ब्राम्हण गौरव ने अंग्रेजो के खिलाफ स्वतंत्रता का प्रथम बिगुल फूंका उन्होंने अपने धर्म एवं संस्कृति को बनाए रखने के लिए अंग्रेजों द्वारा लाए गए नए कारतूस का प्रयोग करने से बैरकपुर छावनी में इंकार कर दिया।सन् 18 57 के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम का बिगुल फूंकने का काम किया और अंग्रेजी साम्राज्य रूपी जहाज में उन्होंने जो छेद करने का काम किया उसके फलस्वरूप 90 वर्षों बाद 1947 में हमारा देश आजाद हुआ।भाजपा, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ(आरएसएस) जो अपने आप को राष्ट्रवादी कहते है उन्हें भी मंगल पान्डेय की याद नहीं आयी, कांग्रेस को सिर्फ राष्ट्र पिता महात्मा गांधी की शहादत/हत्या की याद आयी।राजनैतिक दलों को छोडिये क्या हम भारत के लोगों को प्रथम स्वतंत्रता संग्राम और प्रथम स्वतंत्रता संग्राम मे प्रथम शहीद मंगल पान्डेय की याद आयी ? क्षमाप्रार्थना के साथ-फूलचन्द सिंह एडमिन गाजीपुर टुडे

Leave a Reply