गाजीपुर-घने कोहरे के बावजूद ट्रेन का परिचालन शुरू

0
1120

गाजीपुर- लगभग 10 महीनों से बंद ताड़ीघाट रेलवे स्टेशन एक बार फिर आज 1 फरवरी 2021 को गुलजार हुआ। दानापुर मंडल के दिलदारनगर – ताड़ीघाट रेलखंड पर सन 18 80 के बाद पहली बार इस ट्रैक पर विद्युत इंजन से ताड़ीघाट-दिलदारनगर पैसेंजर ट्रेन का सोमवार को परिचालन प्रारंभ हुआ। 1880 से 1990 तक इस ट्रैक पर कोयला के इंजन से ट्रेन का परिचालन हुआ इसके वाद इसके ट्रैक को छोटी लाईन से बदल कर बडी लाईन का कर दिया गया और भाप के इंजन की जगह डीजल चलित इंजन का उपयोग होने लगा।आज के इस परिचालन से ग्रामीणों सहित क्षेत्रीय यात्रियों ने काफी खुशी देखी गई। इस रेलमार्ग का विद्युतीकरण का कार्य पूरा हो जाने के बाद गत 14 अगस्ता रेल संरक्षा आयुक्त पूर्वी परिमंडल ए एम चौधरी ने निरीक्षण कर इलेक्ट्रिक इंजन से ट्रेन के संचालन को हरी झंडी दी थी। कोरोना संक्रमण के कारण बीते 22 मार्च से पैसेंजर ट्रेन का परिचालन बंद हो गया था।कोरोना काल के 10 महीनों के बाद यात्रियों से भरी पैसेंजर ट्रेन ने भारी कोहरे के बावजूद ताडीघाट-दिलदारनगर ब्रांच लाइन पर रफ्तार को आगे बढ़ाया। ट्रेन अपने निर्धारित समय से 10 मिनट लेट पहुंची। ताड़ीघाट स्टेशन पर अपने पंहुचने के निर्धारित समय 9:05 से 10 मिनट लेट 9:15 पर पहुंची, वहां पहले से ही ताड़ीघाट,मेदनीपुर के ग्रामीण ग्राम प्रधान दीपक सिंह के नेतृत्व में ट्रेन के स्वागत के लिए खड़े थे। लोको पायलट के शर्मा, गार्ड केडी रंजन, टीआई दिलदारनगर संजय कुमार,स्टेशन अधीक्षक सुजीत कुमार सहित अन्य लोगों को ग्रामीणों ने माला फूल पहनाकर तथा मिठाई खिलाकर अभिवादन किया। ग्राम प्रधान दीपक सिंह ने कहा कि आज क्षेत्रीय लोगों के द्वारा दिए गए सहयोग व संघर्ष की बदौलत इस ट्रेन का परिचालन पुनः शुरू हुआ है। ट्रेन का परिचालन बंद होने से यात्रियों को काफी परेशानी हो रही थी। इस ट्रेन का उपयोग छात्र,मजदूर किसान सहित ग्रामीण शहर मे मार्केटिंग आदि बड़े पैमाने पर करते हैं। इस अवसर पर मुन्ना सिंह, बाबूलाल चौधरी, प्रेम यादव ,भावेश पांडे, सत्येंद्र सिंह, नीरज सिंह ,सुरेश यादव ,छोटू गुप्ता, बिंदु राम, गुड्डू सिंह आदि ग्रामीण मौजूद रहे।

Leave a Reply