गाजीपुर-भावपूर्ण प्रस्तुति से छात्राओं ने मनमोहा

0
259

गाजीपुर- नेहरू युवा केंद्र, युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार द्वारा विश्व आर्द्रभूमि दिवस के अवसर पर लोगों को आर्द्रभूमि का महत्व बताने के लिए जागरूकता रैली, बाइक रैली ,पेंटिंग प्रतियोगिता, मॉडल प्रतियोगिता का आयोजन किया गया ।विश्व आर्द्रभूमि दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र मे मुख्य विकास अधिकारी श्री प्रकाश गुप्ता एवं अपर जिलाधिकारी वित्त राजस्व राजेश कुमार सिंह ने बुकलेट का अवलोकन/ शुभारंभ किया। नेहरू युवा केंद्र की जिला युवा अधिकारी कपिलदेव राम ने बताया कि आर्द्रभूमि हमारे जीवन में आर्थिक के साथ-साथ प्राकृतिक रूप से भी महत्व रखता है। इसीलिए लोगों को जागरूक करने की आवश्यकता है। इसी क्रम में जिला परियोजना अधिकारी बृजेश कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि मातृभूमि हमारी वैश्विक अर्थव्यवस्था को रेखांकित करता है, साथ ही हमारे घर को प्रकृतिक भी प्रदान करता है। राजकीय महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय मे विश्व आर्द्रभूमि दिवस का आयोजन नेहरू युवा केंद्र गाजीपुर के तत्वाधान में किया गया। इस अवसर पर कुमारी प्रिया पांडे ने विश्व आर्द्रभूमि दिवस के औचित्य , आयोजन का महत्व तथा इसके प्रारंभ का इतिहास बताया उन्होंने अपने वक्तव्य में रामसर कन्वेंशन 1977 (ईरान) की शुरुआत से लेकर अब तक इस दिशा में किए गए प्रयासों का उल्लेख किया।आर्द्रभूमि के प्रदूषण तथा उनके अस्तित्व पर मंडरा रहे खतरे से भी लोगों को आगाह करते हुए कहा कि जन सहयोग तथा जन सहभागिता से इसे संरक्षित रखने में महत्वपूर्ण बताया। प्रिया ने अपने वक्तव्य में यह भी कहा कि आज भूमि परिस्थितिकी तंत्र को संतुलित रखने में जल की गुणवत्ता और उसकी उपलब्धता को सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इस अवसर पर बी.ए. तृतीय वर्ष की छात्राओं स्नेहा और उनके समूह द्वारा एक पर्यावरण जागृति नाटिका का मंचन किया गया।जिसमें गांव की पोखरी, तालाबों,ताल इत्यादि को दबंगों तथा भू माफियाओं से बचाने में ग्रामीणों एवं युवा वर्ग के प्रयास को रेखांकित किया गया। इस अवसर पर मॉडल प्रतियोगिता/चार्ट प्रतियोगिता में प्रथम तूबा नूर एवं उज्मा खातून प्रथम स्थान एवं द्वितीय स्थान पूजा यादव तृतीय स्थान आकांक्षा राय को प्राप्त हुआ।कल्याणी राय द्वारा प्रकृति संरक्षण से संबंधित एक गीत तथा बी.ए प्रथम वर्ष की छात्रा खुशबू तथा समूह द्वारा पर्यावरण जागृति हेतु एक हरियाणवी लोक नृत्य की प्रस्तुति दी गई। श्वेता राय एवं बीनू सिंह ने अपने एकल भावपूर्ण नृत्य द्वारा पर्यावरण चेतना की अलख जगाया। कार्यक्रम का संचालन कुसुम यादव द्वारा किया गया। परिकल्पना तथा संयोजक डॉ संतोष कुमार राम का रहा।निर्णायक का दायित्व डॉक्टर सारिका सिंह व विकास सिंह ने निभाया।इस अवसर निरंजन कुमार यादव,बी.एन. पांडे ,सुवास चंद्र प्रसाद, चंद्रशेखर ,अजय, संतोष, इंद्रजीत आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply