क्या हैं GST बिल ? आइए इसे जाने सरल भाषा मे

0
1024

image

दिल्ली-  GST यानि गुड्स एंड सर्विस टैक्स हिन्दी मे भाषा मे कहे तो वस्तु एवं सेवा कर । अभी तक देश मे 119 सेवा सेवाकर के दायरे मे आती है। बहुत सी ऐसी बस्तु और सेवाएं है जिन पर भारत सरकार और राज्य सरकारे दोनो कर वसुलती है। जी.एस.टी. लागू होने पर , भारत सरकार या प्रदेश सरकार मे से कोई एक ही टैक्स वसूली करेगा और दोनो मे पुर्व निरधारीत अनुपात मे बाट बांट देगा। सरल शब्दों मे बिभिन्न करो का एकीकरण ही जी.एस.टी.का उद्देश्य है। मोटे तौर पर इन करो का एकीकरण होगा । 1-वैट/सेल्स टैक्स 2- इनटरस्टेट सेल्स पर टैक्स ,3-स्थानीय कर 4- मनोरंजन कर 5-परचेज टैक्स 6-मंडी कर/लोकल टैक्स 7-लग्जरी टैक्स 8-लाटरी टैक्स 9 इंट्री टैक्स 10- सेन्ट्रल एक्साइज ड्यूटी 11- कस्टम ड्यूटी आदि टैक्सो का एकीकरण भविष्य मे होगा।

Leave a Reply